रीट भर्ती परीक्षा पर विवाद जारी:डोटासरा से मिल लेवल-2 के अभ्यर्थी बोले- भर्ती प्रक्रिया को बहाल करे सरकार

जयपुर3 महीने पहले
लेवल-2 की भर्ती परीक्षा बहाल करने की मांग को लेकर प्रदर्शन करते अभ्यर्थी।

राजस्थान में रीट भर्ती परीक्षा को लेकर विवाद लगातार बढ़ता जा रहे हैं। शिक्षा विभाग द्वारा लेवल 1 के अभ्यर्थियों को इसी महीने नियुक्ति देने की तैयारी की जा रही है। वहीं लेवल-2 की रद्द भर्ती परीक्षा को बहाल करने की मांग को लेकर अभ्यर्थियों ने आंदोलन शुरू कर दिया है। मंगलवार को प्रदेशभर से लेवल-2 में सिलेक्ट अभ्यर्थियों जयपुर पहुंचे। उन्होंने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भी निकलना के साथ शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मेल ज्ञापन सौंपा अभ्यर्थियों ने कहा कि उन्होंने पढ़ लिखकर अच्छे अंक हासिल किए हैं। ऐसे में लेवल 2 की भर्ती परीक्षा को बहाल किया जाना चाहिए।

लेवल-2 की मेरिट में शामिल अभ्यर्थी अभिषेक ने कहा कि पेपर लीक प्रकरण में हम लोग शामिल नहीं थे। बावजूद इसके सरकार ने हमें इसकी सजा दी है। जिससे हमारी सालों की मेहनत पर पानी फिर गया है। लेवल-2 की अभ्यर्थी गौरवी ने कहा कि 3 साल की मेहनत के बाद रीट में सिलेक्शन हुआ था। लेकिन कुछ लोगों की लापरवाही का नुकसान 7 लाख अभ्यर्थियों को उठाना पड़ रहा है। ऐसे में सरकार को कोर्ट में हमारी मजबूत पैरवी करनी चाहिए।ताकि मुझ जैसे लाखों अभ्यर्थियों को न्याय मिल सके। अभ्यर्थी मुकेश ने कहा कि SOG की जांच में सिर्फ लेवल-2 नहीं, बल्कि रीट पेपर लीक हुआ था। लेकिन सरकार द्वारा लेवल बन के अभ्यर्थियों को नियुक्ति और लेवल-2 के अभ्यर्थियों के पेपर को रद्द करना इंसाफी की जा रही है। जिसका हम पुरजोर विरोध करेंगे।

रद्द की गई थी लेवल-2 की परीक्षा

राजस्थान में 31 हजार पदों के लिए 25 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों की पिछले साल सितंबर को रीट परीक्षा आयोजित कराई गई थी। इसके 36 दिन बाद रीट का रिजल्ट जारी कर दिया गया था। इसमें से 11 लाख चार हजार 216 को पात्र घोषित किया गया था।

इनमें लेवल-1 के लिए 3 लाख तीन हजार 604 और लेवल-2 के लिए 7 लाख 73 हजार 612 को पात्र घोषित किया गया था। भर्ती परीक्षा का परिणाम जारी होने के बाद लेवल-2 के पेपर के लीक होने सबंधी विवाद में सरकार ने लेवल-2 की परीक्षा को रद्द कर दिया। जिसके बाद से ही छात्र लेवल-2 की परीक्षा को बहाल करने की मांग कर रहे है।

जाने क्या है लेवल-1 और लेवल-2

राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर्स के लिए लेवल-1 और लेवल-2 दो अलग-अलग परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसमें लेवल-1 की परीक्षा में सिर्फ एसटीसी किए हुए उम्मीदवार आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 1 से 5वीं क्लास तक पढ़ाने का मौका मिलेगा।

वहीं, लेवल-2 की परीक्षा के लिए सिर्फ बीएड डिग्रीधारी उम्मीदवार ही आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों को पढ़ने का मौका मिलेगा। लेवल-1 और लेवल-2 दोनों ही परीक्षा के पेपर अलग अलग परियों में आयोजित किए जाएंगे।