रेजिडेंट की हालत में अब सुधार:ड्यूटी रूम में जहरीला इंजेक्शन लगाने वाली रेजिडेंट की हालत में अब सुधार, वर्कलोड की वजह से जेके लोन की रेजिडेंट डॉक्टर तनाव में थी

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जेके लोन अस्पताल में मंगलवार रात को ड्यूटी रूम में जहरीला इंजेक्शन लगाने वाली महिला रेजिडेंट डॉक्टर की हालत में सुधार है। महिला को एसएमस अस्पताल में मेडिकल आईसीयू में भर्ती कराया गया है। इंजेक्शन लगाने के पीछे अस्पताल में वर्कलोड अधिक होने की वजह से तनाव होना बताया जा रहा है। रेजिडेंट डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें अस्पताल में 24 घंटे तक काम करना पड़ता है। यहां तक कई दिन तक घर पर जाना नहीं होता है। इसके बाद भी मरीजों के परिजन संतुष्ट नहीं होते है।

डॉक्टरों का कहना है कि रेजिडेंट डॉक्टरों के भरोसे ही ओपीडी चल रही है। रात के समय इमरजेंसी में सीनियर डॉक्टर नहीं रहते हैं। हर काम रेजिडेंट डॉक्टरों पर थोप दिया जाता है। वे सुबह से शाम मे झूझते रहते हैं। बताया जा रहा है कि इससे पहले महिला रेजिडेंट डॉक्टर कांवटिया अस्पताल में थी। यहां कुछ महीने पहले मरीज के परिजनों से तनातनी हो गई थी। इसके बाद इन्हें जेके लोन अस्पताल में लगाया गया था।

खबरें और भी हैं...