पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिस्टम पर शिकंजा:एसीबी के निशाने पर आए भाया, चाैधरी, खाचरियावास, जूली और चांदना के महकमे, सरकार के 33 महीने के कार्यकाल में 526 भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई

जयपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस सरकार के 33 महीने के कार्यकाल में 526 भ्रष्टाचारियों पर हुई है कार्रवाई - Dainik Bhaskar
कांग्रेस सरकार के 33 महीने के कार्यकाल में 526 भ्रष्टाचारियों पर हुई है कार्रवाई

कांग्रेस सरकार के 33 महीने के कार्यकाल में एसीबी ने 526 कार्रवाई की। जहां भी भ्रष्टाचार की सूचना मिली, वहां कार्रवाई हुई। सबसे अधिक सियासी चर्चा सरकार के करीबी खान मंत्री प्रमाेद जैन भाया, राजस्व मंत्री हरीश चाैधरी, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, श्रममंत्री टीकाराम जूली और काैशल विकास मंत्री अशाेक चांदना के विभाग में हुई कार्रवाई पर रही।

इन विभागों में घूसकांड की कार्रवाई की आंच आरएएस से लेकर आईएएस अफसरों तक पहुंची। कई मामलों में कार्रवाई आगे बढ़ी, जबकि कुछ की फाइलें बंद कर दी या पेंडिंग ही चल रही हैं।

ये विभाग रहे सुर्खियों में : कई मामलों में कार्रवाई आगे बढ़ी, जबकि कुछ की फाइलें बंद कर दी या अब तक पेंडिंग ही चल रही हैं

खान विभाग : एसीबी ने दाे साल पहले घूसकांड में खान विभाग के तत्कालीन संयुक्त सचिव बीडी कुमावत काे गिरफ्तार किया था। राज्य सरकार ने कुमावत के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति नहीं दी। मामला काफी समय तक सियासी सुर्खियाें में रहा था।

परिवहन विभाग : दो साल पहले एसीबी ने वाहन मालिकों को धमकाकर परिवहन विभाग के अफसरों द्वारा मासिक बंधी वसूलने का बड़ा खुलासा किया था। एसीबी ने तब 2 डीटीओ, 6 इंस्पेक्टर और 8 दलालों को कस्टडी में लेकर सर्च अभियान चलाया था। एसीबी को 1.20 कराेड़ रु. नकद, प्राॅपर्टी के दस्तावेज तथा दलालों से रिश्वत के लेनदेन की सूचियों सहित अन्य महत्वपूर्ण साक्ष्य मिले थे। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने एसीबी के खिलाफ माेर्चा खाेला था। उसके बाद बड़ा एक्शन नहीं हाे पाया।

राजस्व विभाग : एसीबी ने इस साल अप्रैल में राजस्थान राजस्व मंडल के राजस्व संबंधित फैसलों में घूसखोरी के प्रकरण का खुलासा किया था। एसीबी ने मंडल के सदस्य सुनील कुमार शर्मा और बीएल मेहरड़ा के साथ मंडल के वकील और दलाल शशिकांत जोशी को गिरफ्तार किया था। मेहरड़ा के आवास से 40 लाख और दलाल शशिकांत जोशी के आवास से 51 लाख रुपए व जेवरात बरामद किए थे। तत्कालीन चेयरमैन आर वेंकटेश्वरन के ऑफिस काे सील कर दिया था। बाद में उनका तबादला कर दिया।

श्रम विभाग : एसीबी ने इस साल मार्च में लेबर कमिश्नर प्रतीक झाझड़िया को 3 लाख रुपए की घूस लेते ट्रेप किया था। झाझडिया के साथ दो व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया था। इनमें एक रवि मीणा था जो आर्थिक सलाहकार परिषद में विशेषाधिकारी के पद पर था। दूसरा दलाल अमित शर्मा था। रिश्वत की रकम मासिक बंधी के रूप में दलालों के मार्फत श्रम विभाग के अफसरों से वसूली जा रही थी।

अब... कौशल आजीविका व विकास निगम : राजस्थान राज्य काैशल विकास निगम में चल रहे भ्रष्टाचार का एसीबी ने शनिवार को खुलासा किया। निगम के स्कीम कॉर्डिनेटर अशाेक सांगवान और मैनेजर राहुल गर्ग काे 5 लाख रु. की घूस लेते गिरफ्तार किया। आरोपियों ने यह राशि डेढ़ करोड़ रु. के बिल पास करने और फर्म काे ब्लैकलिस्ट नहीं करने के एवज में ली थी।