• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • The Government Had Constituted A Committee To Decide The Date Of Opening Of The School, Only One Meeting Of The Committee Was Held And The Decision Was Postponed For 15 Days.

13 राज्यों में स्कूल खुले, राजस्थान में कब से?:सरकार ने स्कूल खोलने की तिथि तय करने के लिए की थी कमेटी गठित, कमेटी की केवल एक बैठक हुई और 15 दिन टाल दिया था निर्णय

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना के घटते मामलों के चलते अब अभिभावक और स्कूल संचालक स्कूल खोलने की मांग करने लगे हैं। - Dainik Bhaskar
कोरोना के घटते मामलों के चलते अब अभिभावक और स्कूल संचालक स्कूल खोलने की मांग करने लगे हैं।
  • अभिभावक और स्कूल संचालक कर रहे 9वीं से स्कूल खोलने की मांग

देश के 13 राज्यों में स्कूल खुल चुके हैं। इनमें से अधिकतर राज्यों में 9वीं से ऊपर की कक्षाओं के लिए स्कूल प्रारंभ हुए हैं। लेकिन राजस्थान में अभी तक स्कूल खोलने की तिथि तय नहीं है। कोरोना के घटते मामलों के चलते अब अभिभावक और स्कूल संचालक स्कूल खोलने की मांग करने लगे हैं। उनका कहना है कि यहां भी 9वीं से बड़ी कक्षाओं और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए शिक्षण संस्थाएं प्रारंभ की जाए।

पिछले दिनों राजस्थान में पहली से 12वीं कक्षा तक के लिए 2 अगस्त से स्कूल संचालन करने का ऐलान किया गया था। लेकिन स्कूल खुलते इसके पहले ही सरकार ने स्कूल और कॉलेज खोलने की तिथि तय करने के लिए 5 मंत्रियों चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया, शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, उच्च शिक्षामंत्री भंवरसिंह भाटी, तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग की कमेटी गठित की थी। इस कमेटी की अब तक केवल एक मीटिंग 24 जुलाई को हुई थी। इसमें स्कूल खोलने का निर्णय 15 दिन के लिए टाल दिया गया था। इसके बाद कमेटी की अभी तक कोई मीटिंग नहीं हुई। कमेटी की मीटिंग हुए 13 दिन बीत चुके हैं।

कब-कहां व कौनसी कक्षाओं के स्कूल खुले

स्कूल खुले तो ऑनलाइन शिक्षा से वंचित विद्यार्थियों को फायदा मिल सकता है।

स्कूल-कॉलेज खोलने को 15 दिन टालने के पीछे कमेटी ने किया था यह दावा
कॉलेज व यूनिवर्सिटी : इस समय अंतिम वर्ष की परीक्षाएं चल रही है। 12वीं का परिणाम घोषित होने के बाद प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ होगी। इसको ध्यान में रखते उच्च शिक्षा संस्थानों को खोलने को लेकर 15 दिन बाद निर्णय लिया जाएगा।

स्कूल : प्रारंभिक-माध्यमिक कक्षाएं प्रारंभ करने को लेकर केंद्र से अभिमत लिया जाएगा। साथ ही अन्य राज्यों में स्कूल खुलने के बाद के अनुभव और फीडबैक के आधार पर यहां निर्णय लिया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय, एम्स व प्रदेश के विशेषज्ञ चिकित्सकों का राय के बाद ही निर्णय होगा।

स्कूल कॉलेज खोलने की तिथि तय करने और एसओपी तय करने को लेकर सरकार ने कमेटी का गठन कर रखा है। कमेटी ही इस पर निर्णय करेगी।
- गोविंद सिंह डोटासरा, शिक्षामंत्री

छोटी कक्षाओं के लिए अभी स्कूल नहीं खोले जाने चाहिए। लेकिन 9वीं से 12वीं तक के स्कूल प्रारंभ किए जा सकते हैं। कॉलेज-यूनिवर्सिटी में वेक्सीनेशन के बाद विद्यार्थियों की पढ़ाई शुरू कर देनी चाहिए।
- स्नेहलता साबू, सचिव, पेरेंट्स वेलफेयर सोसायटी

स्कूल बंद रहने से स्टेशनरी का कारोबार ठप है। 2 अगस्त से स्कूल खुलने की घोषणा से कुछ उम्मीद बंधी थी। अब आस लगाए बैठे हैं कि जल्दी ही स्कूल खुलेंगी।
- प्रदीप अग्रवाल, पुस्तक विक्रेता संघ

13 से अधिक राज्यों ने स्कूल खोल दिए हैं। इनमें से कुछ ने तो पहली कक्षा भी प्रारंभ कर दी है। इसलिए यहां भी स्कूल प्रारंभ होने चाहिए। केंद्र सरकार पर नहीं टालना चाहिए।
-अनिल शर्मा, प्रदेशाध्यक्ष, स्कूल शिक्षा परिवार

खबरें और भी हैं...