पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनलॉक जयपुर; मंदी में गुजरा पखवाड़ा:95 करोड़ रुपए की ग्राहकी वाला बाजार 35 करोड़ तक ही पहुंचा

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर शहर के बाजार पूरी तरह अनलॉक हुए 15 दिन हो गए हैं और मार्केट में बिक्री की गति बढ़ नहीं पाई। जयपुर शहर में रोजाना जहां 95 करोड़ से 100 करोड़ के बीच की ग्राहकी होती आई है। वह फिलहाल 35 करोड़ से आगे नहीं बढ़ पा रही। इसमें भी किराना व खाद्य सामग्री की जो ग्राहकी लॉकडाउन के दौरान थी वह पहले से भी घट गई है।

इसी तरह मेडिकल शॉप की ग्राहकी भी पिछले 20 दिन में 20 से 25 फीसदी ही रह गई है। दूसरा बड़ा कारण अधिकतर शादी विवाह के कार्यक्रम का कैंसिल होना भी माना जा रहा है। जयपुर शहर में 1.40 लाख छोटी-बड़ी दुकानें व शोरूम है जो अब सभी खोलने लग गए हैं। बाजार सुबह 6 बजे से 4 बजे तक खुल रहें हैं।

इसमें विभिन्न व्यापारी क्षेत्रों में बिक्री वॉल्यूम 20% से 40% आ रहा है, जबकि ढाबा वेज रेस्टोरेंट समेत कई क्षेत्रों में वॉल्यूम सिर्फ ऑनलाइन में ही है। होटल व रेस्टोरेंट की कमाई सिर्फ टेकअवे पर और मोबाइल व इलेक्ट्रॉनिक आइटम ऑनलाइन के भरोसे रह गई है। लोगों की आवाजाही नहीं होने से ग्राहकी कम हो गई है।

इलेक्ट्रिक में 35%वॉल्यूम

  • इलेक्ट्रॉनिक्स में ऑनलाइन और दुकानों का टोटल वॉल्यूम मिलाकर 35 परसेंट ही रह गया है।
  • ऑटोमोबाइल सेक्टर में अभी वॉल्यूम ने रफ्तार नहीं पकड़ी है।
  • फर्नीचर की खरीदारी कमजोर है। 10 से 15 परसेंट वॉल्यूम है।
  • रेस्टोरेंट्स में अभी केवल ऑनलाइन पर 25 परसेंट वॉल्यूम है। होटल व रेस्टोरेंट रात 10 बजे तक खोलने की अनुमति मिल जाए तो इस तरह की वॉल्यूम बढ़कर 60% तक पहुंच सकता है।

समय कम होने से परेशानी
व्यापारियों की मानें तो ग्राहकी कमजोर पड़ने का सबसे बड़ा कारण बाजार का समय 4 बजे तक किया जाना है। क्योंकि गर्मी तेज है और सिर्फ सुबह-सुबह ही ग्राहकी होती है।

एक तो गर्मी है और दुकानें खोलने का समय 4 बजे तक ही रहने से दोपहर 12 से 4 के बीच ग्राहक मार्केट में नहीं पहुंच रहा। इसकी वजह से 30 से 35% की ही ग्राहकी रह गई है। दूसरा इस बार शादी विवाह कैंसिल होने से ग्रामीण क्षेत्र से ग्राहक नहीं आ रहा। -सुभाष गोयल अध्यक्ष, जयपुर व्यापार महासंघ

खबरें और भी हैं...