पैसो के लिए दोस्त ने दोस्त का किया अपहरण:10 लाख रुपए की फिरौती मांगी, उदयपुर-पाली लेजाकर मारपीट की

जयपुर3 महीने पहले

शिप्रापथ इलाके से 27 जुलाई को किडनैप करने वाले बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं। इन बदमाशों में पीड़ित का एक पुराना दोस्त शिव प्रकाश भी शामिल है। शिप्रा पथ थाना पुलिस ने बताया कि किडनैपिंग करने के मामले में प्रह्लाद सिंह भाटी और मोहम्मद आदिल को गिरफ्तार किया गया हैं। पुलिस ने दोनों आरोपियों को पाली के सोजत से तकनीकी टीम और मुखबिर की मदद से गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों से वारदात को अंजाम देने में प्रयुक्त एक अवैध पिस्टल, डंडा और पीड़ित से लूटा गया मोबाइल और उसके एटीएम कार्ड बरामद किए हैं।

बदमाशों ने 27 जुलाई को दुर्गापुरा स्थित महारानी फार्म के पास एक चाय की थड़ी से इनोवा सवार आधा दर्जन बदमाशों ने हरकेश मीणा नाम के युवक का अपहरण किया था। किडनैपिंग की इस वारदात को अंजाम देने के लिए हरकेश मीणा का पुराना दोस्त शिव प्रकाश ने योजना बनाई थी। आरोपी ने अपहरण के लिए उसे कार खरीदने के बहाने एक चाय की थड़ी पर लेकर आया। इस दौरान इनोवा सवार आधा दर्जन बदमाश मौके पर आए और हरकेश मीणा को किडनैप कर उदयपुर ले गए। इस दौरान बदमाशों ने पिस्टल की नोक पर हरकेश मीणा के साथ पहाड़ियों पर जमकर मारपीट की और उसे बंधक बना लिया। यहां से बदमाश मारपीट कर हाथ पांव बांधकर गाड़ी में पटक कर उसके एक अन्य साथी लक्ष्य चौधरी के फ्लैट पर ले गए। बदमाशों ने हरकेश मीणा के साथ पर फ्लैट पर मारपीट करते हुए उसे तमाम तरह की यातनाएं दी। बदमाशों ने 2 दिन तक मारपीट करते हुए हरकेश के अकाउंट से ऑनलाइन 10 हजार डलवा लिए। फिर बाद में परिजनों को मोबाइल पर धमकी देते हुए 10 लाख रूपये की फिरौती मांगी।

जयपुर में पैसा देने की बात पर मान गए थे बदमाश
जान का खतरा होने पर और मारपीट के डर से हरकेश मीणा ने जयपुर चलने पर 10 लाख रुपए देने की बात कही। लेकिन रात को उदयपुर में अपहरणकर्ता फ्लैट पर सो गए जैसे ही बदमाशों को नींद आ घई। इस दौरान हरकेश मीणा खुद को उनके चंगुल से छुड़ाकर घायल अवस्था में उदयपुर के नजदीकी सुखेर थाने पहुंच गया। यहां पहुंचने पर उसने परिजनों को और पुलिस को पूरी आप बीती बताई। घटना के बाद सुखेर थाना पुलिस ने घायल अवस्था में हरकेश मीणा को यहां एक निजी अस्पताल में भर्ती करवा दिया। घटना के बाद सभी बदमाश उदयपुर से फरार हो गए मोबाइल फोन पर मिली जानकारी पर परिजन उदयपुर पहुंचे। हरकेश को जयपुर लेकर आए।

इस दौरान पीड़ित के भाई लोकेश मीणा ने 31 जुलाई को शिव प्रकाश मीणा समेत अन्य बदमाशों के खिलाफ किडनैपिंग का मामला दर्ज कराया। जांच पड़ताल करते हुए पुलिस ने मुखबिर की इत्तला पर और तकनीकी टीम की मदद से अपहरण करने वाले दो बदमाशों प्रह्लाद सिंह भाटी और मोहम्मद आदिल को पाली जिले में दबोच लिया। शिप्रा पथ थाने लाने के बाद जब पुलिस ने आरोपियों से कड़ी पूछताछ की तो पता चला हरकेश मीणा के दोस्त शिव प्रकाश मीणा ने किडनैपिंग की यह सारी योजना तैयार की थी