पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • The Organization Minister Of Hindu Jagran Manch Said – Militarization Of Hindu Youth Is Necessary, Those Who Do Not Support In This Work, They Will Leave Them, Those Who Become Obstacles, They Will Walk By Stumbling

VIDEO देखें, हिंदू युवाओं की अलग सेना बनाने का ऐलान:हिंदू जागरण मंच के संगठन मंत्री बोले- सैन्यकरण जरूरी, जो हमारा साथ नहीं देंगे उन्हें छोड़कर चलेंगे; जो रोड़ा बनेंगे उन्हें ठोकर मारकर चलेंगे

जयपुर4 महीने पहले
हिंदू जागरण मंच के क्षेत्रीय संगठन मंत्री मुरली मनोहर।

हिंदू जागरण मंच के क्षेत्रीय संगठन मंत्री मुरली मनोहर का विवादित बयान सामने आया है। इसमें मुरली मनोहर हिंदू युवाओं की अलग सेना बनाने का बेसुरा राग छेड़ रहे हैं। मुरली ने शनिवार को सावरकर जयंती के मौके पर हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं के लिए एक वीडियो मैसेज जारी किया था, जिसका एक हिस्सा वायरल हो गया है। इस वीडियों में मुरली मनोहर हिंदू युवाओं के सैन्यकरण की पैरवी कर रहे हैं।

मुरली मनोहर ने कहा- सावरकर ने जो कहा था, वह आज भी प्रासंगिक है। हिंदू युवा शक्ति का सैन्यकरण इस राष्ट्र की अखंडता के लिए आवश्यक है। इस कार्य के लिए जो साथ देंगे, उन्हें साथ लेकर चलेंगे, जो साथ नहीं देंगे, उन्हें छोड़कर चलेंगे और जो मार्ग में बाधा बनेंगे उन्हें ठोकर मारकर चलेंगे। निरंतर चलना ही हमारी नियति है।

क्या हैं इसके मायने

हिंदू जागरण मंच के संगठन मंत्री ने खुलेआम हिंदू युवाओं की अलग सेना खड़ी करने और बाधक बनने वालों को ठोकर मारने का बयान देकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। देश में मजबूत रक्षातंत्र के बावजूद अलग सेना की पैरवी करना सीधे तौर पर फौज और सरकार को चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। सवाल यह भी उठ रहा है कि धर्म आधारित सेना आखिर करेगी क्या? हिंदू जागरण मंच हमेशा से ही हिंदू हितों की रक्षा का दावा करते हुए धर्मांतरण को एक बड़ा खतरा बताता रहा है। आरएसएस से जुड़े संगठन हर सावरकर की जयंती और पुण्यतिथि पर कार्यक्रम करते हैं, लेकिन इस तरह खुलेआम सेना बनाने की घोषणा पहली बार की गई है।

आरएसएस से जुड़ा संगठन

हिंदू जागरण मंच को आरएसएस से जुड़ा संगठन माना जाता है। मंच ने आदिवासी इलाकों में धर्मांतरण पर सवाल उठाए थे। हिंदू जागरण मंच का राजस्थान में भी अच्छा-खासा संगठनात्मक ढांचा है। यह संगठन पूरे राजस्थान में काम कर रहा है। मेवाड़ और आदिवासी इलाकों में संगठन का खास फोकस है।

खबरें और भी हैं...