• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • The Report Of The Medical Department Was To Be Given To The Committee In 7 Days, Even After 15 Days The Whereabouts Are Not Known

लापरवाही:चिकित्सा विभाग की कमेटी को 7 दिन में देनी थी रिपोर्ट, 15 दिन बाद भी अता-पता नहीं

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जयपुरिया के तत्कालीन अधीक्षक डॉ. राणावत पर महिला कर्मचारी से अश्लील हरकतें करने का आरोप

चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने महिला उत्पीड़न की रिपोर्ट 15 दिन बाद भी सरकार काे नहीं सौंपी है, जबकि सरकार की ओर से गठित कमेटी काे 7 दिन में महिला उत्पीड़न की रिपोर्ट देनी थी। मामला जयपुरिया अस्पताल के तत्कालीन अधीक्षक डाॅ. एसएस राणावत का है। राणावत पर अस्पताल की महिला कर्मचारी ने अश्लील हरकतें करने काे आराेप लगा था।

चिकित्सा विभाग के पास मामला पहुंचने पर 6 अक्टूबर काे चिकित्सा शिक्षा आयुक्त शिवांगी स्वर्णकार की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई थी। कमेटी में वरिष्ठ आचार्य अस्थि राेग डाॅ. डीएस मीणा और वरिष्ठ आचार्य सर्जरी डाॅ. प्रभाओम काे सदस्य बनाया। इन्हें सात दिन में जांच करके रिपोर्ट सरकार काे सौंपनी थी। मामले का खुलासा होने के बाद डाॅ. राणावत काे अधीक्षक समेत तीन पदों से हटा दिया गया था। ऐसे में सवाल यह उठ रहे हैं कि कमेटी पर किसी प्रकार का कोई दबाव तो नहीं है या फिर सरकारी सिस्टम के चिर-परिचित अंदाज में रिपोर्ट तैयार हो रही है।

खबरें और भी हैं...