पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सड़क सुरक्षा माह:ऑटोमेटेड ड्राइविंग ट्रैक पर युवती ने बिना हेलमेट ट्रायल दी, फिर भी कर दिया पास

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रैक पर बिना हेलमेट ट्रायल देती युवती - Dainik Bhaskar
ट्रैक पर बिना हेलमेट ट्रायल देती युवती
  • ट्रायल के दौरान कंपनी के निरीक्षक नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आए

राजधानी में जगतपुरा में शुरू हुआ ऑटोमेटेड ड्राइविंग ट्रैक मजाक बन कर रह गया है। ट्रैक पर ट्रायल देने आए आवेदकों काे कंपनी के कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से दिन भर परेशान होना पड़ा। ट्रायल के दौरान ट्रैफिक नियमों का धज्जियां उड़ती नजर आई। दुपहिया वाहन ट्रायल ट्रैक पर शुक्रवार को बिना हेलमेट ही एक युवती ट्रायल देती नजर आई। युवती के हेलमेट नहीं पहनने के बाद भी उसे पास कर दिया गया।

ट्रायल के दौरान युवती कई बार पैर जमीन पर टिकाकर स्कूटी को टर्न करती नजर आई। यह स्थिति तो तब है जब प्रदेश में सड़क सुरक्षा माह चल रहा है और लोगों को ट्रैफिक नियमों की जानकारी दी जा रही है। विभाग के निरीक्षक-कंपनी कर्मचारी नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आए।

तकनीकी खामी: हर आवेदन पर एक ही फोटो
तकनीकी खामी की वजह से ट्रायल देने के बाद निकलने वाले फार्म पर एक ही आवेदक की फोटो आ रही है। इससे ठीक कराने के लिए भी लोग परेशान होते रहे। शुक्रवार को 160 लोग ट्रायल देने के लिए पहुंचे। इसमें से 120 की ट्रायल हो पाई। 40 लोगों को वापस जाना पड़ा। इन सभी पर एक ही व्यक्ति की फोटो प्रिंट हुई।
शाम 7 बजे तक ट्रायल लेने के बाद भी 60 वापस लौटे
एआरटीओ ऑफिस में पहली बार अंधरे में शाम 7 बजे तक ट्रायल हुई, जबकि ट्रायल का समय शाम 5.30 बजे तक का है। ट्रैक लाइट नहीं होने से लोगों को ट्रायल देने में परेशानी आई। इसके बावजूद भी करीब 40 लोग दिनभर परेशान होने के बाद भी ट्रैक पर ट्रायल नहीं दे पाए। उन्हें बिना ट्रायल देने ही जाना पड़ा। अब इन्हें शनिवार को वापस आना पडेगा।

250 आवेदकों पर 50 कार्ड: स्मार्ट कार्ड नहीं होने से शुक्रवार को आवेदकों को ट्रायल के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। एक ट्रायल में आवेदकों को 2.30 घंटे से अधिक समय लगा। इसकी वजह रही कंपनी के पास पर्याप्त मात्रा में कार्ड नहीं होना रहा। आरटीओ की तरफ से हर दिन 250 लोगों को स्थायी लाइसेंस के लिए तारीख दी जा रही है, जबकि कंपनी के पास मात्र 50 ही कार्ड हैं।

250 आवेदकों पर 50 कार्ड

स्मार्ट कार्ड नहीं होने से शुक्रवार को आवेदकों को ट्रायल के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। एक ट्रायल में आवेदकों को 2.30 घंटे से अधिक समय लगा। इसकी वजह रही कंपनी के पास पर्याप्त मात्रा में कार्ड नहीं होना रहा। आरटीओ की तरफ से हर दिन 250 लोगों को स्थायी लाइसेंस के लिए तारीख दी जा रही है, जबकि कंपनी के पास मात्र 50 ही कार्ड हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें