सीएम गहलोत बोले:भर्ती शुरू होती है तो खुशी होती है, अटकाव का माहौल समाप्त होना चाहिए

जयपुर/अजमेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम अशोक गहलोत। - Dainik Bhaskar
सीएम अशोक गहलोत।

राजस्थान लोक सेवा आयोग का एक्सटेंशन रूम सचिवालय में बनेगा जिसमें आयोग का स्टाफ रहेगा और विभागीय पदोन्नति की प्रक्रिया जयपुर में ही पूरी होगी। सीएम गहलोत सोमवार को आयोग के नवीन ब्लॉक का वर्चुअल शिलान्यास किया। उन्होंने आयोग अफसरों को भर्तियों को समय पर पूरा करने और भर्ती कैलेंडर नियमित जारी करने के लिए भी कहा।

सीएम गहलोत ने कहा कि डीपीसी को लेकर विभागों के अफसरों को अजमेर जाना होता है। यदि यह हो जाए कि आयोग का मेंबर को ही जयपुर सचिवालय में ही कक्ष अलग से दिया जाए, तो कार्मिक विभाग और गृह विभाग के साथ ही अन्य विभागों को सुविधा हो सकेगी। यहां पर एक ऑफिसर बैठ जाए अन्य कार्मिकों को भी लगाया जा सकता है।

आवश्यकता पड़ेगी तो पोस्ट भी क्रिएट की जा सकती है। सीएम की इस घोषणा का आयोग के सदस्यों व कार्मिकों ने भी स्वागत किया। तत्कालीन आयोग अध्यक्ष दीपक उप्रेती के समय से डीपीसी के लिए आयोग आना अनिवार्य कर दिया था। इससे पूर्व कभी जयपुर में या कभी अजमेर में डीपीसी हो जाती थी। अब नई व्यवस्था के बाद डीपीसी जयपुर से ही हो जाएगी।

सीएम बोले-प्रदेश में तीन साल में 97 हजार को नौकरियां दीं
गहलोत ने आयोग अध्यक्ष डॉ. भूपेंद्र यादव और सदस्यों को कहा कि सरकार भर्ती निकालती है, प्रदेश में खुशी होती है। भर्ती पूरी होने से पहले ही अटकाव आ जाते हैं। भर्ती प्रक्रिया पूरी होने में देरी होने लगती है। भर्ती प्रक्रिया समय पर पूरी हो इसके लिए आयोग का परीक्षा कैलेंडर समय पर जारी हो और इसके अनुरूप ही प्रक्रिया चले। गहलोत ने कहा कि प्रदेश में हमने 3 साल में 97 हजार नौकरिया दी हैं।

पारदर्शी व गोपनीय हो भर्ती प्रक्रिया
गहलोत ने कहा कि अब यह स्थिति हो गई है कि आयोग व कर्मचारी चयन बोर्ड की हर परीक्षा पर प्रश्न चिह्न लग रहा है। परीक्षा परफेक्शन से हो और डाउट की नौबत ही नहीं आए, इसके लिए कोशिश करनी चाहिए। भर्ती एजेंसियों की साख बढ़े इस ओर भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

पवित्रता बनाए रखें: सीएस
सीएस निरंजन आर्य ने कहा कि आयोग भर्ती का मंदिर है। इसकी पवित्रता बनाए रखें। अभ्यर्थियों का विश्वास बना रहे, ऐसी कोशिश हो। इंटरव्यू देने आने वाले अभ्यर्थी का भय खत्म हो, ऐसे प्रयास किए जाएं।

किसानों का ध्यान, कहा- बुवाई के लिए पर्याप्त बिजली आपूर्ति हो
गहलोत ने कहा कि फसलों की बुवाई को देखते हुए किसानों को बिजली की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। सीएम निवास पर ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक में कहा कि बिजली कम्पनियां कर्ज का बोझ कम करने एवं ट्रांसमिशन-डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए दीर्घकालीन कार्य योजना बनाएं। ऊर्जा राज्य मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना’ का किसानों को काफी लाभ मिल रहा है।

मिलावटखोरी रोकने को ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान लगातार चले
सीएम गहलोत ने कहा कि ’शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान लगातार चलाया जाए ताकि मिलावटखोरों में भय पैदा हो। खाद्य पदार्थों की शुद्धता सुनिश्चित करने के लिए संबंधित विभाग सक्रिय भूमिका निभाएं। स्वास्थ्य सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि एक जनवरी से फिर से शुरू होने वाले अभियान को और प्रभावी तरीके से चलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...