• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • There Was A Dispute Regarding The Design Of The 14 Footover Bridge Of The Highway, The Company Owner Got The Shooter Murdered For Rs 15 Lakh, The Killers Were Sitting In The Meeting, Four Arrested

डिजाइन विवाद में NHAI रिटायर्ड अधिकारी की हत्या:हाईवे के 14 फुटओवर ब्रिज डिजाइन को लेकर था विवाद, कंपनी मालिक ने 15 लाख रुपए में शूटर से करवाई हत्या

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में हत्या के चार आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में हत्या के चार आरोपी।

जयपुर में NHAI के रिटायर्ड अधिकारी की हत्या का खुलासा करते हुए चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कंपनी के ही ठेकेदारों से 14 फुटओवर ब्रिज के डिजाइन को लेकर विवाद चल रहा था। हरियाणा से 15 लाख रुपए में शूटर बुलाकर हत्या करवाई गई थी। दैनिक भास्कर ने हत्या के दिन ही ठेकेदारों से विवाद और हरियाणा के शूटरों से हत्या किए जाने की बात प्रमुखता से कही थी।

पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि करणदीप श्योराण (29) निवासी साकेत कालोनी हिसार हाल किराएदार गुरुग्राम, नवीन बिस्ला (31) निवासी गांव उरलाना पानीपत हरियाणा, विकास (33) निवासी हिसार सिटी हाल किराएदार गुरुग्राम, अमित नेहरा (26) निवासी आलमपुर भिवानी हरियाणा हाल किराए गोल्फ सेक्टर 65 गुरुग्राम हरियाणा को गिरफ्तार किया है। 26 अगस्त को आरके चावला निवासी फरीदाबाद हरियाणा जयपुर में प्रोग्रेस मीटिंग में शामिल होने के लिए आए थे। मीटिंग के बाहर निकलते ही दो युवकों ने फायर कर हत्या कर दी। दोनों फरार हो गए। भागने के बाद पुलिस ने 500 से अधिक सीसीटीवी फुटेज खंगाले। काले रंग की फाच्यूर्नर में भागते हुए दिखाई दिए। उनकी पहचान नहीं हो सकी। तब पुलिस ने कंपनी के ठेकेदारों और कर्मचारियों से ही पूछताछ शुरू की।

मुख्य आरोपी करणदीप इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी का मालिक
गिरफ्तार करणदीप मुख्य आरोपी है। मैसर्स ई 5 इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी का मालिक है। विकास देवंदा और नवीन दोनों ही इंजीनियर है। ये करणदीप की कंपनी में काम करते हैं। इन्होंने आपस में ही बातचीत की। योजना बनाई कि आरके चावला कंपनी के कार्यों में काफी परेशान कर रहा है। इसको सबक सिखाना होगा। तब 15 लाख रुपए में दो शूटर को सुपारी दी गई।

मीटिंग में साथ लेकर आए शूटर
मीटिंग में विकास और नवीन शामिल होने आए थे। ये दोनों शूटर को गुरुग्राम से साथ लेकर आए। पहले ही बाहर आकर चावला को दिखा दिया। बाहर निकलते ही दोनों ने आरके चावला को मार दिया। बाद में विकास और नवीन ने गुरुग्राम पहुंच कर करणदीप को पूरी बात बताई। पुलिस शूटर की तलाश कर रही है।

क्या था विवाद
गुरुग्राम से जयपुर तक 14 फुटओवर ब्रिज 35 करोड़ रुपए में बनने थे। इसका टेंडर करणदीप की कंपनी को मिला था। कंपनी ने समय पर प्रोजेक्ट पूरा नहीं किया। कंपनी पर 3.5 करोड़ की पेनल्टी लगा दी गई। करणदीप ने प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए समय मांगा था। इसीलिए जयपुर में मीटिंग का आयोजन किया गया था। इस मीटिंग में कंपनी के कर्मचारी, आरके चावला और NHAI हरीसिंह मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...