पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

18 जनवरी से नए नियमों के साथ खुलेंगे स्कूल:न प्रार्थना सभा होगी न उत्सव-खेल, लंच भी अपनी सीट पर ही करना है

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उपस्थिति के लिए बाध्यता नहीं, अभिभावक की सहमति जरूरी। - Dainik Bhaskar
उपस्थिति के लिए बाध्यता नहीं, अभिभावक की सहमति जरूरी।
  • 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं लगेंगी

सरकार से निर्देश मिलने के बाद स्कूल शिक्षा और उच्च शिक्षा विभाग ने शिक्षण संस्थाओं को खोलने की तैयारी प्रारंभ कर दी है। सरकार ने पहले चरण में 18 जनवरी से कक्षा 9 से 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की अनुमति दी है। विश्वविद्यालय व महाविद्यालयों में अंतिम वर्ष की कक्षाएं संचालित की जा सकती है।

स्कूल शिक्षा विभाग व उच्च शिक्षा विभाग मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को अंतिम रूप देने में लगें हैं। स्कूल शिक्षा विभाग की प्रस्तावित एसओपी की माने तो स्कूल खुलने पर ना तो प्रार्थना सभा होगी और ना ही स्कूलों में उत्सव और सामूहिक खेल के आयोजन हो सकेंगे। इसके अलावा कक्षा के 50 फीसदी बच्चों को एक दिन और शेष 50 फीसदी को दूसरे दिन बुलाने के निर्देश है।

स्कूल में बीमारी के लक्षण पाए जाने वाले स्टाफ या विद्यार्थी को अन्य स्थान पर आइसोलेट किया जाएगा। जिला-ब्लॉकस्तरीय मेडिकल अफसर से संपर्क कर स्कूलवाइज टीम बनेगी। स्टाफ व बच्चों की नियमित मेडिकल जांच होगी। बीमारी के कारण स्कूल नहीं आने वाले विद्यार्थी के लिए अतिरिक्त कक्षाओं का आयोजन किया जाए।
यह है स्कूलों-विद्यार्थियों को लेकर प्रस्तावित मानक संचालन प्रक्रिया

  • विद्यार्थियों के आगमन और प्रस्थान का समय अलग-अलग रखा जाएगा, ताकि भीड़ नहीं हो।
  • विद्यार्थियों की उपस्थिति के लिए अभिभावक की सहमति लेनी होगी, बाध्य नहीं किया जाएगा।
  • स्कूल खुलने से पहले बैठक का प्लान नोटिस बोर्ड पर चस्पा किया जाएगा, ताकि विद्यार्थी तय सीट पर ही बैठ सके।
  • यथासंभव स्कूलों में एसी का उपयोग नहीं किया जाए। जरुरत पड़ने पर उसका तापमान 24 से 30 डिग्री सेंटीग्रेड के मध्य रखा जाए।
  • विद्यार्थी पेन, नोटबुक व किताब साझा नहीं करेंगे।
  • विद्यार्थी अपने कक्ष में ही भोजन करेंगे और यथासंभव पानी की बोतल खुद लाएंगे।
  • स्टाफ और विद्यार्थियों को मास्क लगाकर रहना होगा। मास्क बिना स्कूल में किसी का भी प्रवेश निषेध होगा। कक्षा कक्ष व स्कूल को लेकर
  • स्कूलों में हर समय अतिरिक्त मास्क, सोडियम हाईपोक्लोराईड घोल, सेनेटाइजर उपलब्ध रहे।
  • स्कूलों को दी जाने वाली कंपोजिट ग्रांट में से 10 फीसदी राशि स्वच्छता पर खर्च की जाए।
  • स्कूल के फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, शौचालय, पानी की टंकियां को सेनेटाइज किया जाए।
  • स्कूल वाहिनी को उपयोग से पहले और बाद सेनेटाइज करना होगा। स्कूल वाहिनी में प्रवेश या स्कूल में प्रवेश के समय थर्मल स्केनिंग की जाए।

^सरकार ने 18 जनवरी से 9वीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खोलने का निर्णय लिया है। स्कूल संचालन के लिए एसओपी तैयार कर दी है। केंद्र सरकार, गृह विभाग और चिकित्सा विभाग की गाइडलाइन्स के आधार पर जल्दी ही स्कूलों का संचालन शुरू कर देंगे।
-गोविंदसिंह डोटासरा, शिक्षामंत्री
^सरकार के कोविड-19 संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए हम स्कूल संचालन के लिए तैयार हैं। अभिभावकों का सहयोग चाहिए कि वे अपने बच्चों को मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग के लिए प्रेरित करें।
- दामोदर प्रसाद गोयल, अध्यक्ष, सोसायटी फॉर अनएडेड प्राइवेट स्कूल्स ऑफ राजस्थान
^सरकार को पहले बोर्ड की 10वीं-12वीं की कक्षाएं लगानी चाहिए। 9वीं व 11वीं कक्षाओं पर बाद में निर्णय लेना था। अभी तो कोरोना के नए स्ट्रेन की स्थिति भी स्पष्ट नहीं है। इसलिए अभिभावकों के मन में अभी थोड़ा भय है।
- दिनेश कांवट, संयोजक पेरेंट्स वेलफेयर सोसायटी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें