• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • This Time 5 Times More Cases Than In The Year 2020; Highest Number Of Cases In Entire Jaipur City Even After Fogging 2 Times

राजस्थान में डेंगू के 10 हजार मरीज:साल 2020 की तुलना में इस बार 5 गुना ज्यादा केस; जयपुर में सबसे ज्यादा केस

जयपुर9 महीने पहले
जयपुर नगर निगम की टीम चारदीवारी क्षेत्र में फॉगिंग करते हुए।

राजस्थान में डेंगू-मलेरिया के केस अब भी कम नहीं हो रहे। जयपुर, अलवर, जोधपुर, कोटा, झालावाड़, करौली, धौलपुर समेत कई जिलों में डेंगू के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट को देखें तो अब तक इस साल पूरे स्टेट में डेंगू के 10 हजार से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। यह साल 2020 के मुकाबले 5 गुना ज्यादा है। साल 2020 में डेंगू के केवल 2023 ही मरीज मिले थे। डेंगू के ये रिकॉर्ड केस बताते हैं कि इस प्रशासन डेंगू-मलेरिया को रोकने में फेल साबित हुआ है।

जयपुर में 2 हजार मरीज

राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां सबसे ज्यादा 2 हजार मरीज मिले हैं। जयपुर में अगस्त के महीने तक केवल 400 ही मरीज डेंगू के मिले थे। सितम्बर और अक्टूबर में इनकी संख्या दो गुना से भी ज्यादा हो गई। जयपुर में नगर निगम हैरिटेज की तरफ से सभी वार्डो में कम से कम एक बार और जयपुर नगर निगम ग्रेटर के सभी वार्डो में 2-2 बार फॉगिंग करवाने का दावा किया गया है। इस दावे के बाद यह हालात हैं कि जयपुर में सबसे ज्यादा डेंगू के केस मिले हैं।

फॉगिंग पर जोर

जयपुर नगर निगम मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी रश्मि कांकरिया का कहना है कि फॉगिंग को लेकर एक भी शिकायत पेंडिंग नहीं है। जो भी शिकायतें मिलती हैं, उसके लिए हाथों-हाथ फॉगिंग करवा रहे हैं। कांकरिया ने बताया कि अब फॉगिंग के साथ मलेरिया का प्रसार रोकने के लिए एंटी लार्वा एक्टिविटी भी करवाई जा रही है।

इन जिलों में भी हालात खराब
जयपुर के अलावा दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा स्थिति कोटा जिले की खराब है। कोटा में अगस्त तक केवल 18 ही डेंगू के केस थे, लेकिन यह सितम्बर और अक्टूबर दो महीने में बढ़कर 57 गुना बढ़कर 1038 के पार पहुंच गए। कोटा में तो आधिकारिक तौर पर अब तक डेंगू से एक व्यक्ति की जान भी जा चुकी है। कोटा के अलावा झालावाड़, अलवर, जोधपुर, करौली और धौलपुर में भी डेंगू के केसों में तेजी से बढ़े हैं। यहां 600 से भी ज्यादा केस आए हैं।

जैसलमेर, उदयपुर में मलेरिया ज्यादा घातक
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट देखें तो जयपुर, कोटा, झालावाड़, अलवर, जोधपुर, करौली और धौलपुर में डेंगू के केस ज्यादा मिल रहे है। जैसलमेर, उदयपुर में मलेरिया के केस ज्यादा मिल रहे हैं। सबसे ज्यादा मलेरिया के मरीज उदयपुर जिले में मिले हैं। राहत की बात ये है कि प्रदेश में अब तक मलेरिया से एक भी मौत नहीं हुई है।

खबरें और भी हैं...