पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षा:इस बार 10वीं-12वीं की कक्षाओं में लागू किया जाएगा एनसीईआरटी का सिलेबस

जयपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

प्रदेश के सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में 7 जून से नया सत्र 2021-22 शुरू हो जाएगा। इसकी के साथ स्टाफ के लिए स्कूल खुल जाएंगे। लेकिन अभी विद्यार्थियों को नहीं बुलाया जा रहा है। उधर, स्कूल खुलने के साथ ही शिक्षा विभाग ने भी सरकारी स्कूलों में निशुल्क पाठ्यपुस्तकें पहुंचाने की तैयारी प्रारंभ कर दी है। इस बार 10वीं और 12वीं कक्षा में एनसीईआरटी का सिलेबस लागू होगा।

विभाग ने निशुल्क पाठ्यपुस्तक वितरण की गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार दसवीं के विद्यार्थियों को राजस्थान का इतिहास व संस्कृति विषय की किताब 50 फीसदी पुरानी व 50 फीसदी नई वितरित होंगी। शेष विषयों की पुस्तक एनसीईआरटी पाठ्यक्रम की होंगी, जिनका शत-प्रतिशत वितरण किया जाएगा।

इसी तरह से कक्षा 12वीं में कृषि रसायन, कृषि जीव विज्ञान, विज्ञान, अदबी सुगंध और आजादी के बाद का स्वर्णिम भारत भाग-2 विषय की पुस्तकें गत सत्र के अनुसार माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की उपयोग में ली जाएंगी। शेष विषयों की पुस्तकें एनसीईआरटी की लागू होंगी, जिनका शत-प्रतिशत नि:शुल्क वितरण किया जाएगा।

इसके अलावा पहली से तीसरी तक के सभी विद्यार्थियों को निशुल्क किताबें दी जाएंगी। इसके अलावा विद्यार्थियों को सत्र 2020-21 के कक्षा क्रमोन्नति के प्रमाण पत्र और अंक तालिका वितरण के साथ ही पिछले सत्र में बांटी गई किताबों को प्राप्त कर बुक बैंक में जमा कराया जाएगा।

विद्यार्थी को 50 फीसदी नई और 50 फीसदी पुरानी पुस्तकें मिलेंगी
कक्षा 4 से कक्षा 9 के विद्यार्थियों को गत सत्र की लौटाई पुस्तकों का 50% उपयोग लेना होगा। प्रत्येक विद्यार्थी को 50% नई पुस्तक और 50% पुरानी पुस्तक दी जाएंगी। कक्षा 10 में राजस्थान का इतिहास और संस्कृति विषय की लागू पाठ्यपुस्तक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की है। ऐसे में छात्रों की लौटाई 50% पुरानी नि:शुल्क पुस्तकों का उपयोग नए सत्र में होगा।

खबरें और भी हैं...