पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दशहरा पर्व कल:इस बार कॉलोनियों और मोहल्लों के नुक्कड़ पर ही रावण दहन

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दशहरा पर्व कल मनाया जाएगा, लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण शहर में रावण दहन के बड़े आयोजन नहीं होंगे। कॉलोनियों व मोहल्लों के नुक्कड पर छोटे स्तर पर ही रावण दहन कर परम्परा निभाई जाएगी। इसी को देखते हुए रावण के पुतले का कद भी इस बार कोरोना की वजह से घट गया है, क्योंकि शहर में बड़े आयोजन नहीं होने की वजह से इनकी डिमांड बहुत कम रह गई है। इसलिए इस बार बड़े की बजाय छोटे रावण के पुतले की ज्यादा मांग है।

30 साल से गुर्जर की थड़ी पर रावण के पुतले बनाकर बेचने वाले बैजू गुजराती का कहना है की पिछली बार तो बारिश की वजह से रावण के पुतले खराब होने से लागत भी नहीं निकली थी, इस बार कोरोना महामारी की वजह से बड़े रावण बनाने का एक भी ऑर्डर नहीं मिला। अब उम्मीद है की छोटे रावण तो बिक जाएंगे।

अभी बड़ा से बड़ा 20 फीट से उपर नहीं बनाएं है, जबकि पिछली बार ऑर्डर पर 30-40 फीट से अधिक उंचाई के रावण बनाए थे। हर बार मानसरोवर, जवाहर नगर, प्रतापनगर व विद्याधर नगर सहित अनेक जगह 40 से लेकर 100 फीट तक के रावण पुतले का दहन होता था। थड़ी मार्केट मानसरोवर में रावण पुतले बेचने वाले गोविंद योगी का कहना है की अभी तो खरीदारी कमजोर ही है, पिछले साल 150 से अधिक रावण पुतले बनाए थे, इस बार कोरोना की वजह आधे ही बनाए है ।

इस बार यह नया

कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों को जागरूक करने के लिए कारीगरों ने इस बार कोरोना रावण भी बनाएं है। पप्पू गुजरती ने बताया की रावण दहन के साथ कोरोना महामारी का भी अंत हो जाएं, इसलिए पहली बार कोरोना रावण का पुतला बनाया गया है, इसे भी लोग खूब पसंद कर रहे है ।

रावण पुतलों की रेट

  • 2 फीट का 200 रूपए में
  • 3 से 4 फीट का 300 से 500 रूपए में
  • 7 से 9 फीट का 800 से 1000 रूपए तक
  • 11 फीट का 1200 रूपए में
  • 15 से 20 फीट का रावण 2000 से 2500 तक

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें