एनएसओ रिपोर्ट 2021: लड़कियों के रोजगार में ज्यादा कमी:इस साल रोजगार 22.6 फीसदी कम मिले, सर्वाधिक असर 35 वर्ष से कम उम्र वालों पर

जयपुर9 महीने पहलेलेखक: देवपालिक गुप्ता
  • कॉपी लिंक
सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के नेशनल स्टेटिकल ऑफिस (एनएसओ) की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले इस साल संगठित क्षेत्र की नौकरियों में कमी आई है। - Dainik Bhaskar
सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के नेशनल स्टेटिकल ऑफिस (एनएसओ) की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले इस साल संगठित क्षेत्र की नौकरियों में कमी आई है।

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के नेशनल स्टैटिस्टिकल ऑफिस (एनएसओ) की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले इस साल संगठित क्षेत्र की नौकरियों में कमी आई है। वित्तीय वर्ष 2019-2020 की तुलना में 2020-21 में लगभग 25 लाख (22.6%) कम रोजगार मिले हैं। 2019-20 में नए ईपीएफ सब्सक्राइबर की संख्या 1,10,40,683 थी। वहीं, 2020-21 में यह 85,48,898 रह गई। ईपीएफओ सब्सक्राइबर घटने का अर्थ संगठित क्षेत्र में रोजगार में कमी है।

एक साल में कम हो गई 22 लाख नौकरियां
पेरोल रिपोर्टिंग इन इंडिया: एन एम्प्लॉयमेंट पर्सपेक्टिव सितंबर 2021 नाम से जारी इस रिपोर्ट में बताया गया कि कोविड के दौरान एक साल में 35 साल से कम उम्र में 22 लाख कम युवाओं को नौकरी मिली। साल 2019-20 में 90,77,491 युवाओं को नौकरी मिली तो 2020-21 में 68,25,607 ही मिली।

35 से कम उम्र की युवतियों का सर्वाधिक रोजगार मिला
2019-20 की तुलना में 2020-21 में लड़कियों को 5,53,420 कम रोजगार मिले। प्रतिशत में यह आंकड़ा 27 फीसदी है। वहीं, 2019-20 में पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 3,06,031 यानी करीब 13 प्रतिशत रोजगार कम मिले।

खबरें और भी हैं...