पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नियमों से खिलवाड़:एप में जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया, उनका भी हो गया वैक्सीनेशन

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविन एप। - Dainik Bhaskar
कोविन एप।
  • 382 निजी अस्पतालों को वैक्सीनेशन की सूचना ही नहीं
  • गफलत के कारण भी टीकाकरण का ग्राफ गिरा

वैक्सीनेशन का आंकड़ा लगातार गिर रहा है। वजह कई हैं। इनमें कलक्टर-चिकित्सा विभाग का फेल्योर सिस्टम, वैक्सीनेशन किए जाने वाले नियमों का उल्लंघन और पहले दिन रजिस्ट्रेशन का आंकड़ा अधिक दिखाने की होड़। अन्तत: वहीं हुआ, जिसका डर था, जिन्हें वैक्सीनेशन होना था, उन्हें नहीं हुआ और जिनका नंबर महीनों बाद आना था, वे लगवा गए।

शहर के 417 निजी अस्पतालों में से 382 हॉस्पिटल्स के पास वैक्सीनेशन के लिए कोई सूचना ही नहीं है। ऐसे में निजी अस्पतालों के डॉक्टर्स और फ्रंट वॉरियर्स का वैक्सीनेशन ही नहीं हो सका। चौंकाने वाली बात यह भी है कि चिकित्सा विभाग के आला अधिकारियों ने पहले दिन वैक्सीनेशन की नंबर बढ़ाने के लिए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन ही कर दिए, जबकि नियमानुसार ऐसा नहीं किया जाना चाहिए था।

अब जबकि मामला सामने आ गया और ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन बंद कर दिए गए तो वैक्सीनेशन का आंकड़ा ‘धड़ाम’ हो गया। अब सरकारी सिस्टम इस कवायद में जुटा है कि किसी भी तरह रजिस्ट्रेशन हों और लोग वैक्सीनेशन के लिए आगे आएं।

ये 3 बड़ी खामियां... जो परेशानी का कारण बनीं

रजिस्ट्रेशन नहीं पर टीका लगा
पहले दिन सभी सेंटर्स पर उन लोगों का भी वैक्सीनेशन कर दिया गया जिनका रजिस्ट्रेशन नहीं था। इनमें वे भी लोग थे, जो फ्रंट वॉरियर्स में नहीं थे और केवल अस्पतालों में किन्हीं ना किन्हीं पदों पर काम कर रहे थे। ऐसा नंबर बढ़ाने के लिए किया गया।

निजी अस्पतालों की सुनवाई नहीं
निजी अस्पताल संचालक एक महीने से रिमाइंडर देते रहे कि रजिस्ट्रेशन नहीं हो रहा है, पर सुनवाई नहीं हुई। अन्तत: वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद भी निजी अस्पताल के डॉक्टर्स और स्टाफ के ना तो रजिस्ट्रेशन हुए और ना ही वैक्सीनेशन।

कोविन एप में कई खामियां हैं
डॉक्टर्स के कई बार रजिस्ट्रेशन कराने की प्रक्रिया करने के बाद भी वे पूरा नहीं हो रहा। बार-बार रिपीटेशन होता है और अन्तत: फेलियर दिखा देता है। रजिस्ट्रेशन के बाद भी उन लोगों के पास सूचना नहीं पहुंची, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन कराया था।

90% अस्पतालों को सूचना ही नहीं
^दुखद है कि 90% निजी अस्पतालों के डॉक्टर्स और स्टाफ के पास वैक्सीनेशन की सूचना नहीं है। हम शुरू से ही रजिस्ट्रेशन सिस्टम सही करने के लिए बोल रहे हैं, पर कहीं कुछ नहीं हुआ। केवल कुछ कारपोरेट अस्पतालों के पास इंफार्मेशन आई थी। जबकि 380 से अधिक अस्पताल अभी इंतजार ही कर रहे हैं।
-डॉ. विजय कपूर, सेक्रेट्री, पीएचएनएस


समय लगेगा पर नंबर सभी का आएगा
^कोविन एप पर लोड आ गया था और रजिस्ट्रेशन में परेशानी आई थी। इसलिए ही ऑफलाइन करना पड़ा। बाद में ऑनलाइन ही किया गया है। हम धीरे-धीरे सभी अस्पतालों को सेंटर बनाएंगे और कॉल कर बताएंगे भी। इसलिए थोड़ा समय लग सकता है लेकिन नंबर सभी का आएगा।|
-डॉ. नरोत्तम शर्मा, सीएमएचओ, जयपुर।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें