महिला ने क्लर्क को हनीट्रैप में फंसा-मांगे 18 लाख:रुपए न मिलने पर रेप केस की धमकी, पति-दलाल के साथ मिलकर कर रही थी ब्लैकमेल

जयपुर7 महीने पहले

बूंदी की एक शादीशुदा महिला ने अपने पति और दलाल के साथ मिलकर शिक्षा विभाग के LDC को हनीट्रैप में फंसाने की कोशिश की है। युवक से महिला ने 18 लाख रुपए मांगे थे। रुपए नहीं देने पर रेप केस में फंसाने की धमकी दी थी। आरोपी महिला लगभग एक साल से युवक को जानती थी। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने महिला और उसके पति समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से 3 लाख रुपए कैश और 15 लाख का चेक भी बरामद किया है।

एक साल से थी दोनों की जान-पहचान

संजय सर्किल थाना प्रभारी मोहम्मद शरीफ खान के मुताबिक, पीड़ित युवक हिमांशु के पिता घनश्याम मीणा SMS अस्पताल में इमरजेंसी स्टाफ के पद पर कार्यरत हैं। वहीं 30 वर्षीय हिमांशु शिक्षा विभाग में एलडीसी के पद पर कार्यरत है। एक साल पहले हिमांशु की बूंदी में पोस्टिंग थी। इस दौरान उसकी पहचान पड़ोस में रहने वाली प्रिया शर्मा से हुई। इस दौरान प्रिया ने उसे जाल में फंसा लिया। कुछ दिनों बाद ही महिला अपने पति विवेक के साथ मिलकर हिमांशु को झूठे केस में फंसाने की धमकी देने लगी। केस नहीं करने की बदले में उसने पैसों की डिमांड रखी।

धमकी से परेशान हो युवक ने लिया ट्रांसफर

प्रिया की धमकी से परेशान होकर हिमांशु ने अक्टूबर 2021 में अपना ट्रांसफर अलवर नया गांव में करवा लिया। साथ ही प्रिया का नंबर भी ब्लॉक कर दिया। फिर भी प्रिया ने पीड़ित की फेसबुक आईडी और उसके परिचितों से नया पता ढूंढ लिया।नया पता मिलते ही वो हिमांशु के घर पहुंच गई। वहां जमकर हंगामा किया और रेप केस में फंसाने की धमकी देने लगी। हिमांशु के पड़ोसी शिवराम सिंह ने तब किसी तरह मामला शांत करवाया और 18 लाख रुपए में डील करवाई।

डील तय होने पर पिता से मांगे रुपए
18 लाख में डील तय होने के बाद युवक ने अपने पिता को सारी घटना की जानकारी दी। साथ ही रुपए देने के लिए राजी किया। डील के अनुसार, 3 लाख रुपए नकद और 15 लाख रुपए का चेक देना था। हिमांशु अपने पिता के साथ गुरुवार की शाम चांदपोल मेट्रो स्टेशन के बाहर रुपए लेकर पहुंचा। इस बीच घनश्याम मीणा ने संजय सर्किल थाने को जानकारी दी। जैसे ही पीड़ित ने प्रिया को कैश और चेक दिया, पुलिस ने महिला उसके पति विवेक और दलाल शिवराम को गिरफ्तार कर लिया।

महिला और उसके पति के साथ दलाल शिवराम ने मिलकर 18 लाख में डील की थी। पिछले कई महीने से युवक को डराया और धमकाया जा रहा था।
महिला और उसके पति के साथ दलाल शिवराम ने मिलकर 18 लाख में डील की थी। पिछले कई महीने से युवक को डराया और धमकाया जा रहा था।

पुलिस ने पकड़ा तो गिड़गिड़ाने लगी महिला

पुलिस तीनों को रंगे हाथों पकड़ा और थाने ले आई। थाने में पुलिस को देखते ही महिला जोर-जोर से रोने और गिड़गिड़ाने लगी। महिला हाथ जोड़कर बोलती रही- कुछ नहीं चाहिए, जाने दो। पुलिस ने आरोपियों से 3 लाख रुपए और 15 लाख रुपए का चेक भी बरामद किया है।

रुपए के बदले एग्रीमेंट में युवक को माना भाई

महिला ने अपने पति और दलाल के साथ मिलकर एक एग्रीमेंट भी बनवाया। एग्रीमेंट में लिखा था कि मैं प्रिया शर्मा पत्नी विवेक शर्मा उम्र 36 निवासी बूंदी के हिमांशु के साथ पारिवारिक संबंध है। मैं इसे छोटे भाई की तरह मानती हूं। कुछ लोगों के बहकावे में आकर पिछले 6 महीने से कॉल और मैसेज कर डराया। मुकदमा दर्ज करवाने की भी धमकी दी। जब मैं हिमांशु के पिता से मिली तो मैंने सोचा मैं अपना हितैषी खो दूंगी। महिला ने यह भी लिखा कि हमारे बीच पारिवारिक सबंध हैं। अन्य किसी प्रकार के अवैध संबंध नहीं हैं। ये एग्रीमेंट भी पुलिस ने बरामद किया।

खबरें और भी हैं...