जयपुर में गरबे के क्रेज की PHOTOS:मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए महिलाओं ने किया गरबा रास; फ्यूजन म्यूजिक पर किया ग्रुप डांस

जयपुरएक महीने पहले

जयपुर में नवरात्रि में गरबा का अलग ही क्रेज रहता है। कॉलोनियों में गरबे का देर रात तक आयोजन किया जा रहा है। इस बीच शक्ति रूप मां दुर्गा से महिलाओं ने कामना की है कि राक्षस रूपी कोरोना महामारी का दुनिया से अंत हो जाए। जयपुर के मानसरोवर, टोंक रोड और जोरावर सिंह गेट इलाके में बीती रात डांडिया और गरबा रास हुआ। जिसमें महिलाओं और बच्चियों ने जमकर धमाल मचाया। गुजराती फ्यूजन म्यूजिक और सॉन्ग पर महिलाओं ने ग्रुप डांस किया।

जयपुर के टोंक रोड स्थित एक क्लब में गरबे का आयोजन किया गया। यहां महिलाओं ने जमकर गरबा किया।
जयपुर के टोंक रोड स्थित एक क्लब में गरबे का आयोजन किया गया। यहां महिलाओं ने जमकर गरबा किया।
मानसरोवर स्थित एक कॉलोनी में खेला गया गरबा। यहां रंग-बिरंगे पारंपरिक परिधान पहनकर महिलाओं ने देर रात तक गरबा किया।
मानसरोवर स्थित एक कॉलोनी में खेला गया गरबा। यहां रंग-बिरंगे पारंपरिक परिधान पहनकर महिलाओं ने देर रात तक गरबा किया।

गरबा की शुरुआत मां दुर्गा की आराधना से हुई। इसके बाद चौगाड़ा तारा,रंगीला तारा.... ढोली तारो ढोलना...जैसे गानों पर गरबा और डांडिया रास हुआ। महिलाओं ने बताया कि वो पिछले कई दिनों से कोरियोग्राफर के जरिए इस प्रोग्राम की तैयारी कर रही थीं। कोरोना के लंबे काल के बाद अब यह खुशी का मौका आया है ,जब मिलकर सारी महिलाएं उत्साह और उमंग से खुशी के पल बांट रही हैं। करीब 2 साल बाद यह मौका मिला है जब कोविड जा रहा है और त्योहार की असली खुशियां आई हैं। महिलाओं ने देवी मां से महामारी को खत्म करने की प्रार्थना की।

टोंक रोड पर हुए एक क्लब के गरबे में सजकर पहुंची महिला।
टोंक रोड पर हुए एक क्लब के गरबे में सजकर पहुंची महिला।
जोरावर सिंह गेट स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान मानद विश्वविधालय में खेला गया गरबा।
जोरावर सिंह गेट स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान मानद विश्वविधालय में खेला गया गरबा।
कोरोनाकाल के लंबे इंतजार के बाद गरबा खेलने का मौका मिला। महिलाओं ने जमकर गरबा खेला।
कोरोनाकाल के लंबे इंतजार के बाद गरबा खेलने का मौका मिला। महिलाओं ने जमकर गरबा खेला।
बड़ों के साथ बच्चे भी पीछे नहीं रहे। छोटी-छोटी बच्चियों ने देर रात तक गरबा किया।
बड़ों के साथ बच्चे भी पीछे नहीं रहे। छोटी-छोटी बच्चियों ने देर रात तक गरबा किया।
कई जगह लोग पूरे परिवार के साथ गरबा करने पहुंचे।
कई जगह लोग पूरे परिवार के साथ गरबा करने पहुंचे।
गुजराती फ्यूजन म्यूजिक और बॉलीवुड गानों पर महिलाएं पूरी रात थिरकीं।
गुजराती फ्यूजन म्यूजिक और बॉलीवुड गानों पर महिलाएं पूरी रात थिरकीं।
कोरोनाकाल के बाद पहली बार गरबा खेला जा रहा। बच्चों में अलग ही उत्साह देखने को मिला।
कोरोनाकाल के बाद पहली बार गरबा खेला जा रहा। बच्चों में अलग ही उत्साह देखने को मिला।
खबरें और भी हैं...