पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tourist Place Monuments Of Jaipur Open From 16 June For Tourist, All Were Closed 60 Days Before By Government Due To Corona Lockdown Tourists Took Elephant Ride In Amer

जयपुर में पर्यटन 'अनलॉक', पधारो म्हारे देश:60 दिन बाद फिर से पर्यटकों की आवाजाही से गुलजार हुए पर्यटन स्थल; आमेर किले के दीवान-ए-आम में ली सेल्फी

जयपुर3 महीने पहलेलेखक: विष्णु शर्मा
जयपुर में कोरोना की लहर कम होने के बाद दो महीने से बंद सभी संग्रहालयों और स्मारकों को 16 जून से पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। आमेर में भी हाथी सवारी शुरु हुई। फोटो: मनोज श्रेष्ठ

कोरोना केस कम होने पर राज्य सरकार ने दो महीने बाद सभी पर्यटन स्थलों (स्मारक और संग्रहालयों) को पर्यटकों के लिए बुधवार से खोल दिया। देश के खूबसूरत शहरों में एक पिंक सिटी जयपुर के पर्यटन स्थल बुधवार को पर्यटकों की चहल-पहल से फिर से गुलजार हुए। आमेर में फिर से सजे-धजे हाथियों पर पर्यटकों की सवारी शुरु हुई। अन्य पर्यटन स्थलों पर भी रौनक आई।

आमेर महल के शीश महल में पर्यटकों को जानकारी देता गाइड
आमेर महल के शीश महल में पर्यटकों को जानकारी देता गाइड

पहले ही दिन देसी सैलानी इन पर्यटन स्थलों पर सैर करने पहुंचे। इससे वहां पसरा सन्नाटा टूटा। पर्यटन कारोबार से जुड़े कारोबारियों ने भी राहत की सांस ली। उम्मीद है कि पर्यटकों के जयपुर में आने पर फिर से पर्यटन कारोबार ऊंचाई छुएगा।

आमेर महल में बुधवार को गणेश पोल पर परिवार के साथ सेल्फी लेते हुए पर्यटक
आमेर महल में बुधवार को गणेश पोल पर परिवार के साथ सेल्फी लेते हुए पर्यटक

आमेर महल में पहुंचे पर्यटकों ने अलग अलग जगहों से सेल्फी फोटो लेना शुरू हुआ। हाथी स्टैंड से लेकर आमेर महल तक हाथी पर सवारी की। पहले दिन हाथी मालिकों की तरफ से इन पर्यटकों को माला पहनाकर स्वागत किया गया। जंतर मंतर पर पहुंचे पर्यटकों की संख्या काफी कम रही। लेकिन, जो पर्यटक यहां पहुंचे। उन्होंने गाइड की मदद से जंतर-मंतर में लगे यंत्रों को समझा।

जंतर-मंतर में पर्यटकों की आवाजाही कम रही।
जंतर-मंतर में पर्यटकों की आवाजाही कम रही।

पर्यटकों ने पांच मंजिला 953 झरोखों वाले हवामहल से शहर का नजारा देखा। अल्बर्ट हॉल में हेरिटेज वस्तुएं देखीं। सरगासूली से शहर देखा। फोटोग्राफी की। वहीं, मावठा और जलमहल से भी फोटोग्राफी के आनंद लिए।

हवामहल में फव्वारों ने पर्यटकों को लुभाया
हवामहल में फव्वारों ने पर्यटकों को लुभाया

17 अप्रैल को बंद किए गए थे सभी स्मारक और संग्रहालय
कोरोना प्रकोप बढ़ने पर राज्य सरकार ने इस साल 17 अप्रैल को जयपुर सहित प्रदेश के सभी पर्यटन स्थलों, स्मारकों और संग्रहालयों को बंद कर दिया था। जून के दूसरे सप्ताह तक कोरोना केस बिल्कुल कम होने के बाद सरकार ने कोरोना संक्रमण कम होने पर फिर से आर्थिक संकट से घिरे जयपुर के पर्यटन कारोबार को राहत देने के लिए 16 जून से सभी स्मारकों व संग्रहालयों को रोजाना दोपहर 3 बजे तक पर्यटकों के लिए खोलने को निर्णय लिया और 15 जून को आदेश जारी किया।

पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। हाथ सैनेटाइज करवाए गए।
पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। हाथ सैनेटाइज करवाए गए।

सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक खुलेंगे सभी स्मारक और संग्रहालय
पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के निदेशक प्रकाश चंद्र शर्मा के अनुसार 16 जून से पर्यटन स्थलों को खोला गया है। ये अब रोजाना सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक पर्यटकों के लिए खोले जाएंगे। यहां कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। बुधवार को भी पर्यटन स्थलों पर पहुंचने वाले पर्यटकों की जानकारी एक रजिस्टर में दर्ज की गई। इसके अलावा हाथ सैनिटाइज कराए गए। थर्मल स्क्रीनिंग से टेम्परेचर चैक किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाकर रखने की पालना के निर्देश दिए गए।

हवामहल में नो मास्क-नो एंट्री के निर्देश बोर्ड लगाए गए
हवामहल में नो मास्क-नो एंट्री के निर्देश बोर्ड लगाए गए

पुरातत्व विभाग के अनुसार आमेर में हाथी सवारी 50 प्रतिशत क्षमता से ज्यादा नहीं हो सकेगी। वहीं अभी जयपुर स्थित स्मारकों और संग्रहालयों में संचालित नाइट टूरिज्म और लाइट एंड साउंड शो अभी आगामी आदेशों तक बंद रखे जाएंगे।

पहले दिन पर्यटकों की आवाजाही कम रही। आमेर महल में जलेब चौक।
पहले दिन पर्यटकों की आवाजाही कम रही। आमेर महल में जलेब चौक।
जयपुर में दो महीने बाद पर्यटन की राह खुलने पर हाथियों ने सूंड उठाकर अभिवादन किया।
जयपुर में दो महीने बाद पर्यटन की राह खुलने पर हाथियों ने सूंड उठाकर अभिवादन किया।
खबरें और भी हैं...