विकास कार्यों का निरीक्षण:स्मार्ट सिटी के कार्यों से खफा व्यापारी यूडीएच मंत्री के पास पहुंचे, बोले- शहर के हालात तो देखिए

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल - Dainik Bhaskar
नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल
  • 15 अगस्त के बाद धारीवाल कर सकते हैं जयपुर शहर का दौरा

जयपुर शहर में स्मार्ट सिटी व नगर निगम की ओर से किए जा रहे विकास कार्यों को देखने खुद नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल आएंगे। व्यापारियों के आग्रह पर 15 अगस्त के बाद नगरीय विकास मंत्री ने जयपुर सिटी में चल रहे कार्यों मौका स्थिति देखने की हामी भरी है।

इससे पहले एलएसजी सेक्रेटरी भवानी सिंह देथा शहर का राउंड लेकर रिपोर्ट नगरीय विकास मंत्री को सौंपेंगे। अपने 3 पेज के पत्र में व्यापारियों ने पार्किंग, बरामदे व ड्रेनेज सिस्टम की खामियां गिनाई और 11 फोटो भी नगरीय विकास मंत्री को सौंपी है।

गौरतलब है कि जयपुर शहर के बाजारों में दिन बरामदे गिरने, सड़क पर पानी जमा होने और स्मार्ट सिटी के खराब कार्यों से परेशान होकर व्यापारियों ने नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल से मुलाकात की है और उन्हें सभी समस्याओं से अवगत करवाते हुए जयपुर शहर के हालात देखने के लिए आमंत्रित भी किया है।

किशनपोल विधायक अमीन कागजी की अगुवाई में जौहरी बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजय अग्रवाल व महासचिव कैलाश मित्तल के नेतृत्व में तीनों बाजारों के प्रतिनिधि धारीवाल से मिलने पहुंचे। व्यापारियों ने न केवल पिछले दिनों हुए हादसे के बारे में नगरीय विकास मंत्री को अवगत करवाया है बल्कि हेरिटेज नगर निगम और जयपुर स्मार्ट सिटी की ओर से किए जा रहे कार्यों को लेकर भी खासी नाराजगी जताई है। कैलाश मित्तल ने बताया कि स्मार्ट सिटी मनमर्जी का काम कर रही है। स्मार्ट सिटी के इंजीनियरों ने तो ड्रेनेज सिस्टम बिगाड़ कर रख दिया।

नालों की सफाई हुई नहीं इसलिए बारिश के पानी की निकासी नहीं हो रही। स्मार्ट सिटी के इंजीनियरों का लक्ष्य बजट खर्च करना ही रह गया है। इसीलिए व्यापारी चाहते हैं कि नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल खुद मौका स्थिति देखें और स्मार्ट सिटी की ओर से किए जा रहे कार्यों में जो गड़बड़ी हो रही है वह दुरुस्त हो।

एमआई रोड के व्यापारी नालों की सफाई नहीं होने से खफा, बोले-वन वे का समय कम हो
एमआई रोड व्यापार मंडल के महासचिव सुरेश सैनी ने बताया कि बाजार में नगर निगम हर साल नालों की सफाई नहीं करवाता बल्कि खाना पूति करके छोड़ देता है इसीलिए इस बार भी बारिश का पानी नालों की बजाए सड़क पर बहा और सड़कें तालाब जैसी नजर आने लगी। पहले भी नगरीय विकास मंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर एमआई रोड कई सालों से लागू वन वे ट्रैफिक सिस्टम का समय कम करने की मांग कर चुके हैं एक बार फिर से मुख्यमंत्री व नगरीय विकास मंत्री को पत्र लिखा गया है ताकि बाजार की समस्याएं समय रहते सुधारी जा सके।

खबरें और भी हैं...