लंपी बीमारी से 4 हजार गायों की बचाई जान:5 जिलों की गोशालाओं में चल रहा इलाज, हफ्तेभर में बांटे 4 लाख आयुर्वेदिक लड्‌डू

जयपुर7 दिन पहले
आयुर्वेदिक और वेटनेरी डॉक्टरों से सलाह लेकर लंपी वायरस से पीड़ित गायों के इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवाई से लड्‌डू बनाते हुए।

लंपी वायरस के संक्रमण तड़प रही गायों के लिए जज और RPS अधिकारियों के फाउंडेशन आयुर्वेदिक लड्‌डू बनाकर इलाज कर रहे है। जयपुर में मित्राय फाउंडेशन हर दिन करीब 1 लाख रुपए कीमत के लड्‌डू बना रहे है। आयुर्वेदिक औषधि लड्‌डू को पांच जिलों की गोशाला में वितरीत कर गायों का इलाज किया जा रहा है। महज एक हफ्ते में करीब 4 हजार लंपी पीड़ित गायें लड्‌डू से ठीक हो गई। लड्‌डू बनाने के लिए करीब 8 हलवाई सहित 50 से ज्यादा वालंटियर हर दिन निशुल्क काम कर रहे है।

मित्राय फाउंडेशन के फाउंडर विनीत शर्मा ने बताया कि उनकी संस्था ने आयुर्वेदिक और वेटनेरी डॉक्टरों से सलाह लेकर लंपी वायरस से पीड़ित गायों के इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवाई से लड्‌डू बनाए। पहले लड्‌डू लंपी पीड़ित कुछ गायों को खिलाकर टेस्ट किया तो महज दो से तीन दिन में गायें स्वस्थ हो गई। इसके बाद जयपुर के मुरलीपुरा में गुलाब पेराडाइज मैरिज गार्डन में 13 सितंबर से लड्‌डू बनाने का काम शुरू किया। पहले ही दिन आठ हलवाई और 50 से ज्यादा वॉलिंटियर की टीम ने करीब 50 हजार से ज्यादा लड्डू बनाकर शहर के आस-पास की गोशाला में लड्डू वितरित किए।

जज और RPS अधिकारियों के फाउंडेशन आयुर्वेदिक लड्‌डू बनाकर इलाज कर रहे है।
जज और RPS अधिकारियों के फाउंडेशन आयुर्वेदिक लड्‌डू बनाकर इलाज कर रहे है।

लड्डू से गायों के ठीक होने के बाद कई दूसरे जिलों से भी लड्डू की डिमांड आने लगी। उनकी टीम हर दिन करीब 50 हजार लड्डू बनाती है। इसमें करीब 1 लाख रुपए हर दिन खर्च होता है। लड्डू बनने के बाद कई जिलों से गौशाला संचालक गायों के इलाज के लिए लड्डू लेने आते है। रविवार को करीब 52 हजार लड्डू बनाकर वितरित किए गए। इस दौरान विधायक नरपत सिंह राजवी, रीको डायरेक्टर, सीताराम अग्रवाल, आरपीएस संदीप सारस्वत, पार्षद रणवीर राजावत, मीनाक्षी शर्मा, नरेंद्र शेखावत, वर्क संस्था के हैड लईक हसन, मंसूरी पंचायत संस्था के अध्यक्ष अब्दुल लतीफ आरको, मदनलाल शर्मा, मुकेश जिंदल, शिवपाल सिंह, सीपी सैनी, लोकेश पारीक, अशोक शर्मा और लुबना फिरदौस समेत अन्य मौजूद रहे।

आयुर्वेदिक औषधि से बनाए लड्‌डू
वैटेनरी डॉक्टर पंकज शर्मा, वैद्य ललित के नेतृत्व में हल्दी, गुड़, सौंठ, काली मिर्च, लौंग, घी, काला जीरा, दालचीनी, धनिया, गिलोय, तुलसी, आंवला, मैथी, अजवायन, मुलैठी, सनाय पत्ती, जो और गेहूं के आटे से लड्‌डू बनाए जाते है।

एक हफ्ते में बांटे चार लाख लड्डू
पूनम तिवारी ने बताया कि आठ हलवाई और करीब पांच से ज्यादा वालंटियर की टीम हर दिन 50 हजार से ज्यादा लड्डू बनाती है। एक हफ्ते में करीब चार लाख से ज्यादा लड्डू बनाए है। जयपुर, नागौर, सीकर, भरतपुर, अलवर, दौसा सहित कई अन्य जिलों से गोशाला संचालक हर दिन लड्डू लेने आते है। लड्डू खाने के बाद गायें महज दो से तीन दिन में स्वस्थ होने लगती है। लड्डू के उपचार से करीब चार हजार से अधिक गायें ठीक हो गई।