12वीं पास मीणा को हेल्थ, 10वीं पास जाटव PWD देखेंगे:107 करोड़ की संपत्ति के साथ आंजना सबसे अमीर मंत्री, शकुंतला के पास सबसे कम संपत्ति

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: स्मित पालीवाल

राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने अपनी तीसरी वर्षगांठ से पहले एक बार फिर मंत्रिमंडल में फेरबदल किया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए 11 कैबिनेट और चार राज्य मंत्री बनाए हैं। इनमें से 7 मंत्री ऐसे हैं, जो सिर्फ 12वीं क्लास तक पढ़े-लिखे हैं, जबकि स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा सिर्फ 10वीं पास हैं। वहीं 3 मंत्री बीडी कल्ला, सुभाष गर्ग व महेश जोशी ने पीएचडी कर रखी है। 6 मंत्री ग्रेजुएट हैं।

दसवीं पास पीडब्ल्यूडी मंत्री
12वीं पास राजेंद्र गुढ़ा सैनिक कल्याण बोर्ड, होमगार्ड और नागरिक सुरक्षा मंत्री बन सरकार का कामकाज देखेंगे। इसके साथ ही दसवीं पास भजन लाल जाटव सार्वजनिक निर्माण विभाग(PWD) की जिम्मेदारी संभालेंगे। वहीं 12वीं पास प्रमोद जैन भाया खान, पेट्रोलियम और गोपालन विभाग के मुखिया के पद पर कामकाज देखेंगे।

विश्वेंद्र दूसरे नंबर के अमीर मंत्री
राजस्थान में हुए मंत्रिमंडल फेरबदल के बाद निंबाहेड़ा विधायक उदयलाल आंजना प्रदेश के सबसे अमीर मंत्री बन चुके हैं। विश्वेंद्र सरकार के दूसरे सबसे अमीर मंत्री के तौर पर अपनी पहचान बना चुके हैं। उनके पास करीब 100 करोड़ की संपत्ति है। वहीं बसपा से कांग्रेस में आए राजेंद्र गुढ़ा के पास 10 लाख रुपए की जमा पूंजी है।

राजस्थान में बढ़ी केंद्र में घटी मंत्रिमंडल की औसत आयु
राजस्थान में मंत्रिमंडल फेरबदल के बाद अशोक गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल की औसत आयु में 3.8 साल की बढ़ोतरी हुई है। मंत्रिमंडल औसत आयु के हिसाब से 60.8 साल का है। वहीं कुछ महीनों पहले केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद औसत आयु घटी थी। पहले केंद्र के मंत्रिमंडल की औसत आयु 61 साल थी, जो विस्तार के बाद घटकर 58 साल हो गई है।

खबरें और भी हैं...