• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • UDH Minister Inspects Every Point Connected With Tonk Road For 3 Hours; Then Ordered To Start Work On 11 Points Immediately.

धारीवाल सुधारेंगे ट्रैफिक व्यवस्था:मंत्री ने 3 घंटे टोंक रोड से जुड़ा हर बिंदु खंगाला; फिर 11 पॉइंट पर काम तत्काल शुरू करने के आदेश दिए

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार की कमान नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने अपने हाथ में ली। - Dainik Bhaskar
ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार की कमान नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने अपने हाथ में ली।

तकनीकी खामियां दूर कर और ट्रैफिक सिस्टम को सुधार कर टोंक रोड को जाम फ्री बनाने के प्रोजेक्ट की कमान अब खुद नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने हाथ में ली है। भास्कर के अभियान के तहत सामने आए पहलुओं का उन्होंने 3 घंटे तक बारीकी से अध्ययन किया। संबंधित सरकारी एजेंसियों से अब तक सामने आई रिपोर्ट भी देखी।

इसके बाद जेडीए कमिश्नर गौरव गोयल, अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर हैदर अली जैदी, डीसीपी ट्रैफिक श्वेता धनकड़ सहित नगर निगम अफसरों को ट्रैफिक सुधार के लिए दिशा-निर्देश दिए। इसके लिए भास्कर अभियान के दौरान सामने आए 13 प्रमुख सुझावों में से धारीवाल ने 11 पर सैद्धांतिक सहमति जताते हुए तत्काल कार्रवाई के आदेश भी दिए।

ये 2 काम अगले चरण में होंगे

1. अजमेरी गेट से टोंक फाटक की तरफ 200 मीटर में ही 7 जगह बसों के ठहराव के लिए स्टैंड बनाए हुए हैं। इसमें से रामनिवास बाग के टोंक रोड वाले गेट के दोनों तरफ 2 स्टेंड पास-पास हैं। महाराजा कॉलेज के बाहर 2 स्टेंड पर बसें ठहरती हैं। इसका समाधान भी किया जाना है।

2. टोंक रोड पर गोपालपुरा चौराहे से कोटा कचौरी तक के हिस्से में एक लेन तो कार डेकोर वालों के कारण घिरी रहती है। इससे आगे 4 पेड़ के कारण एक लेन बाधित है। यहां वाहनों का ठहराव बंद करने, पेड़ों को शिफ्ट करने पर काम होना है।

इन बिंदुओं पर हर पहलू को देखा

  • भास्कर की पड़ताल में टोंक रोड पर क्या तकनीकी समस्याएं सामने आईं
  • कहां कितने स्थाई-अस्थाई अतिक्रमण
  • तकनीकी खामियां कहां किस तरह की चिह्नित हुईं
  • व्यापारियों, विशेषज्ञों, लोगों ने क्या सुझाव दिए
  • संबंधित सरकारी अफसरों के दौरे में क्या तथ्य सामने आए

धारीवाल के अफसरों को निर्देश; इन पॉइंट पर काम शुरू करें

  • एसएमएस अस्पताल के गेट 1 से 2, आगे गर्ल्स हॉस्टल के गेट तक 14 गुमटियों को पुराने नर्सिंग क्वार्टर्स की जमीन पर शिफ्ट करें।
  • सेंट्रल पार्क के एसएमएस अस्पताल वाले कोने पर बॉटल नेक का समाधान निकालें। सेंट्रल पार्क के सामने से बसों को शिफ्ट करें।
  • तय करें कि जेसीटीएसएल की बसों का ठहराव बीच सड़क पर न हो। ऑटो टैक्सी, मैजिक गाड़ियां व अन्य वाहनों की पार्किंग साइड में हो।
  • सुबोध कॉलेज के सामने रोड की बिल्डिंग लाइन चौड़ी करें। सुबोध कॉलेज व रामबाग होटल की ओर जमीन लेकर सड़क चौड़ाई बढ़ाएं।
  • रामबाग चौराहे के पास बसों के ठहराव की जगह बदलें। यह ठहराव यूनिवर्सिटी मार्ग की तरफ आगे खिसकाएं।
  • लालकोठी पर सोढानी मिष्ठान भंडार के सामने सड़क पर पार्किंग निषेध करें। समूचे टोंक रोड पर नो पार्किंग जोन की सख्त पालना कराएं।
  • पूरे टोंक रोड पर कंट्रोल सीसी रोड बनाने पर काम हो। इससे नए सिरे से रोड की बिल्डिंग लाइन भी तय हो पाएगी।
  • लक्ष्मी मंदिर तिराहे को री-डिजाइन करें। फुटओवर ब्रिज को बिल्डिंग लाइन से संकरा करें ताकि लेफ्ट में बजाज नगर का रास्ता खुले।
  • गांधी नगर रेलवे स्टेशन के सामने तिराहे पर रोड क्राॅसिंग को बंद करें। इस क्रॉसिंग को यहां से 100 फीट आगे खिसकाएं।
  • ग्लास फैक्ट्री से कमल एंड कंपनी तक दो रोड कट हैं। इनमें से एक को ही चालू रखें, दूसरे को फिलहाल प्रयोग के तौर पर बंद करें।
  • गोपालपुरा पुलिया के नीचे बनाया गया गार्डन अब बचा नहीं है। ऐसे में क्षतिग्रस्त प्लेटफार्म को हटाया जाए। इसे पूरी तरह साफ किया जाए तो इस जगह का उपयोग पार्किंग अथवा चौपाटी के रूप में हो सकेगा।