• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Vasundhara Raje Said There Is A Catastrophe Of Electricity In The State, In Our Time, Electricity Was Available For 24 Hours, Today Even 24 Minutes Are Not Available

बिजली संकट पर पूर्व सीएम हमलावर:वसुंधरा बोलीं- राजस्थान में बिजली का महासंकट, हमारे समय 24 घंटे बिजली थी; आज 24 मिनट भी नहीं मिलती

जयपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व सीएम वसुंधरा राजे। - Dainik Bhaskar
पूर्व सीएम वसुंधरा राजे।

राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने बिजली संकट को लेकर गहलोत सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा- प्रदेशवासियों को बिजली जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित रखना, साफ तौर पर राज्य सरकार की विफलता है। जो घरेलू बिजली हमारे कार्यकाल में 24 घंटे मिला करती थी, आज गांवों में 24 मिनट भी नहीं मिल रही। कटौती से शहरों में भी लोग परेशान हैं। प्रदेश के कई बिजली घर बंद हैं और कई बंद होने की स्थिति में हैं।

वसुंधरा राजे ने कहा, प्रदेश में बिजली संकट से हमारे उद्योग तो प्रभावित हो ही रहे हैं। खेती और बच्चों की पढ़ाई पर भी बुरा असर पड़ रहा है। राज्य सरकार ने कोयले का भुगतान सही समय पर नहीं किया। इसलिए यह परेशानी खड़ी हुई है। कोयले की कमी से ही पर्याप्त बिजली का उत्पादन नहीं हो पा रहा। मेरे कार्यकाल में भुगतान समय से होता था। इसलिए कोयले की कभी कमी नहीं आई। उस वक़्त बिजली उत्पादन होता रहा।

अब दाम ज्यादा, बिजली गुल

राजे ने कहा- हमारा बिजली प्रबंधन इतना मजबूत था कि बिजली की कमी तो दूर, बिजली सरप्लस रहती थी। आज हालत ऐसे बन गए हैं कि अब आम उपभोक्ता से लेकर किसान और इंडस्ट्री तक को परेशानी हो रही है। बिजली का स्थायी शुल्क और एनर्जी चार्ज बढ़ा कर इस सरकार ने उपभोक्ताओं पर भारी बोझ डाला है। वास्तविक रीडिंग की बजाय लोगों को एवरेज बिल थमाए जा रहे हैं। हमारे समय में दाम कम, बिजली फुल थी। अब दाम ज़्यादा, बिजली गुल है।

सरकार ने माना पिछले 2 दिन से काटी जा रही बिजली, डिमांड से 4500 मेगावाट बिजली कम है, CM बोले बिजली बचाएं लोग

राजस्थान में गहराने लगा बिजली संकट:कोल इण्डिया ने घटाई सप्लाई, कोयले की कमी से प्रदेश की 10 यूनिट बंद; प्रोडक्शन घटा, लेकिन डिमांड बढ़ने लगी

खबरें और भी हैं...