पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पिटबुल की पीड़ा से बड़ी एसएमएस में अव्यवस्था की पीड़ा:विशाल काे एसएमएस में शिफ्ट किया, अब चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी हाेगी

जयपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विशाल मीणा। - Dainik Bhaskar
विशाल मीणा।

अजमेर राेड टैगोर नगर में डॉग बाइट के शिकार विशाल मीणा काे मंगलवार काे मानसराेवर के प्राइवेट अस्पताल से एसएमएस में शिफ्ट कर दिया। अब बच्चे के चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी हाेगी। साेमवार काे टैगोर नगर स्थित घर में विशाल काे पिटबुल डॉग ने सिर व चेहरे काे जबडे में जकड़ कर फाड दिया था। इसके बाद विशाल काे एसएमएस अस्पताल के पाॅलीट्राेमा में भर्ती करवाया था, जहां से परिजन बच्चे 2-3 घंटे बाद ही निजी अस्पताल में ले गए।

परिजनों ने बताया कि मानसराेवर के जिस निजी अस्पताल में भर्ती करवाया था वहां प्लास्टिक सर्जरी की सुविधा नहीं हाेने के कारण उसे वापस एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा। बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है। एसएमएस में दाेपहर 2:30 बजे बच्चे के भर्ती के बाद शाम 5 बजे परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आराेप लगाते हुए हंगामा कर दिया।

परिजनों का कहना है कि बच्चे का इलाज ठीक से नहीं हो रहा है। बाद में डाॅक्टराें के समझाने पर परिजन शांत हुए। इधर, चित्रकूट थाने के सीआई पन्नालाल जांगिड़ का कहना है कि पिटबुल डॉग काे अपने पास रखते हुए क्या लापरवाही बरती गई इसकी जांच की जा रही है।

पिटबुल पर प्रतिबंध लगाया जाए

नगर निगम ग्रेटर में एनीमल शाखा के चेयरमेन अरूण कुमार वर्मा ने मेयर शील धाबाई व सीईओं ग्रेटर यज्ञ मित्र सिंह काे नोटशीट पर लिखित में देकर इस नस्ल काे शहर में पालने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि जिन लाेगाें ने पाल रखा है वे बंध्याकरण करवाएं। मालिक पिट-बुल व राेट व्हीलर काे खुले में नहीं छाेडे़। खुले में ले जाने से पहले इन कुत्तों के मुंह पर जाली का मास्क लगाए ताकि किसी काे काट नहीं सके।

पालतु कुत्ते के रजिस्ट्रेशन के प्रतिवर्ष मात्र 15 रुपए लगते हैं

नगर निगम ग्रेटर की एनीमल शाखा के इंस्पेक्टर राकेश गुप्ता ने बताया कि नगर निगम में पालतु कुत्ते के रजिस्ट्रेशन के मात्र 15 रुपए प्रतिवर्ष है। इसमें देशी-विदेशी दाेनाें नस्ल के कुत्ते शामिल है। रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने पर कुत्ते काे जब्त किया जा सकता है। पालतु कुत्ते के वैक्शीनेशन के साथ साल में एक बार मेडिकल चेकअप हाेना जरूरी है।

शहर में 20 हजार घरों में पालतू कुत्ते, रजिस्ट्रेशन 518 का

नगर निगम में कांग्रेस पार्षद दल के पूर्व मुख्य सचेतक गिरिराज खंडेलवाल ने बताया कि शहर में करीब 20 हजार घराें में पालतू कुत्ते है, लेकिन 518 कुत्ताें का ही पंजीकरण करवाना आश्चर्य की बात है। आमजन से जुडे इस गंभीर विषय पर नगर निगम की सुस्ती दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्हाेंने बताया कि टैगोर नगर एक अकेल केस नहीं हुआ सैकड़ाें लाेगाें पर पालतू कुत्ते हमला करते है। शहर में निगम का पालतू कुत्ताें पर नियंत्रण नहीं है।

बच्चे को प्लास्टिक सर्जरी यूनिट-एक में भर्ती कराया गया है। डॉ. जीएस कालरा उनका इलाज कर रहे हैं और बच्चा पहले की तुलना में ठीक है। बच्चे के चेहरे और अन्य अंग की रि-कंसट्रक्टिव सर्जरी की जाएगी। जांच के बाद रिपोर्ट आने और अन्य सभी पहलुओं को देखते हुए जल्दी ही सर्जरी की जाएगी।
-डॉ.राजेश शर्मा, अधीक्षक एसएमएस अस्पताल

खाचरियावास अस्पताल पहुंचे, बच्चे के अच्छे इलाज का आश्वासन दिया

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास मंगलवार काे मानसरोवर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती विशाल मीणा से मिलने पहुंचे। मंत्री खाचरियावास बच्चे से मिले और डॉक्टरों से बच्चे के हालात की जानकारी ली। उन्होंने परिजनों काे बच्चे के एसएमएस में अच्छे इलाज करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि बच्चे का हर हाल में अच्छा इलाज कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...