सख्ती के लिए एक और कदम:वेस्टबिन माॅनिटर एप; गंदगी की फोटो भेजिए, 24 घंटे में कचरा नहीं उठा तो 100 रुपये जुर्माना

जयपुर6 महीने पहलेलेखक: कन्हैया हरितवाल
  • कॉपी लिंक
सोमवार को निगम ने एप लॉन्च किया है। - Dainik Bhaskar
सोमवार को निगम ने एप लॉन्च किया है।

सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए निगम ने बीवीजी पर और सख्ती की है। रविवार को प्रति शिकायत 50 रुपए का जुर्माना का प्रावधान किया था। इधर, सोमवार को निगम ने एप लॉन्च कर दिया। एप पर लोगों को गंदगी की फोटो डालनी होगी। 24 घंटे में बीवीजी ने कचरा उठा कर फोटो एप पर नहीं डाली तो हर दिन 100 रुपए जुर्माना निगम करेगा।

निगम ने यह एप ‘वेस्टबिन माॅनिटर’ नाम से डवलप किया है। फिलहाल निगम स्तर पर ट्रायल किया जा रहा है। हालांकि आम नागरिक इस एप काे प्ले स्टाेर से डाउनलाेड कर गंदगी की शिकायत करने के लिए फाेटाे शेयर कर सकते हैं।

वहीं कचरा उठा लिया गया ताे बीवीजी काे उस जगह की साफ फाेटाे भेजनी हाेगी। ग्रेटर निगम के स्वास्थ्य उपायुक्त मुकेश कुमार ने बताया कि इस एप के बारे में जाेन वाइज सीएसआई, एसआई काे प्रशिक्षित कर दिया गया है।

कचरा उठते ही शिकायतकर्ता को मैसेज मिलेगा
गूगल प्ले स्टाेर से वेस्टबिन माॅनिटर एप डाउनलाेड करें। वेस्ट इमेज ऑप्शन पर क्लिक करें और कचरे की फाेटाे डाल दें। 3 तरह के कचरे की फाेटाे भेज सकते हैं, स्टाेरेज पाइंट, डिपाे व लिटरबिन की। कचरा उठते ही मैसेज मिल जाएगा।

नगर निगम की ओर से इस एप का ज्यादा-ज्यादा से प्रचार-प्रसार किया गया ताे लाेग जागरूक हाेंगे। समय पर कचरा उठने लग जाएगा। अगर कंपनी समय पर कचरा नहीं उठाई ताे पेनल्टी लगेगी, जिससे निगम काे राजस्व बचेगा।

इधर, हड़ताल तो टूटी, पर सड़काें से 40 % कचरा ही उठा
बीवीजी ने हड़ताल ताे खत्म कर दी और वार्डाें में हूपर चले फिर भी साेमवार काे सड़काें से 40 फीसदी ही कचरे के ढेर उठे। इसकी वजह है कि दाे दिन डाेर-टु-डाेर कचरा संग्रहण नहीं हाेने के कारण सड़काें पर जगह जगह कचरे के ढेर लग गए। ऐसे में सभी जगह से कचरा नहीं उठ पाया। कंपनी का कहना है कि जल्द ही शहर से कचरा उठाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...