पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चेहरा देख टीका:विधायक ने सिफारिश की तो हंगामा...सभी बन गए सुपरस्प्रेडर

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को आदर्श नगर के जनउपयोगी भवन में लगे कैंप के दौरान टीकारण में भेदभाव को लेकर जमकर हंगामा हुआ। - Dainik Bhaskar
मंगलवार को आदर्श नगर के जनउपयोगी भवन में लगे कैंप के दौरान टीकारण में भेदभाव को लेकर जमकर हंगामा हुआ।

महामारी में उम्मीद की किरण बने वैक्सीनेशन के लिए अब बड़ी-बड़ी सिफारिशें जोर पकड़ रही हैं। कभी सरकार वैक्सीन नहीं लगा रहे लोगों के हाथ जोड़ निवेदन कर रही थी। अब सरकार और नेताओं की सिफारिश से लग रहे वैक्सीन बड़े विवाद का कारण बन गए हैं। मंगलवार को ऐसा ही एक बखेड़ा आदर्श नगर विधानसभा के जनउपयोगी भवन में लग रहे वैक्सीनेशन प्रोग्राम के दौरान खड़ा हो गया।

यहां वैक्सीन के लिए विधायक की सिफारिश के विरोध में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोध किया तो पुलिस पहुंची। आपत्ति जताने वाले पार्षद को थाने ले गई तो कई कार्यकर्ता और वकील साथी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान सामाजिक दूरी जैसे नियमों की भी धज्जियां टूटती दिखीं।

इस विवाद में एक बात तो हर किसी को समझनी चाहिए थी कि वैक्सीनेशन कोरोना को रोकने के लिए होना था और विवाद के दौरान कोरोना के फैलाने के सारे उपाय कर डाले गए।

18 प्लस के वैक्सीनेशन में ज्यादा हड़बड़ी दिखाई दी

  • सीएमएचओ सैकंड में पिछले सप्ताह ऐसे ही एक पार्षद ने वैक्सीन में धांधली के आरोप लगाए थे।
  • सोमवार को जमवारामगढ़ में 18 प्लस के लिए बुक स्लॉट में जयपुर से लोग पहुंचे तो गांव वालों ने बखेड़ा खड़ा कर दिया।
  • फोर्टिस अस्पताल में दो-तीन बार एडवांस स्लॉट बुकिंग, रद्द होने पर नए लोगों से जुड़े विवाद सीएमएचओ तक पहुंचे।

जिस जगह को लेकर बीजेपी के नेता विवाद खड़ा कर रहे हैं, वहां परनामी जी की बेटी को भी रुटीन में वैक्सीन लगी है-

रफीक खान, विधायक, आदर्श नगर से सवाल

Q. विवाद है कि आप जिनको लिस्ट दे रहे हैं, उन्हीं को वैक्सीनेशन हो रहा है?
-उसी जगह परनामीजी की बेटी ने भी वैक्सीन कराया है। मैं गया था वहां तो ये पता लगा।

Q.फिर ये विवाद कैसे उपजा?
-देखिए वैक्सीनेशन की शॉर्टेज तो है। जिन्होंने रजिस्ट्रेशन करा लिया है या जिनके घरों में पॉजिटिव है और उनका नाम नहीं आ रहा है, ऐसे लोगों के रजिस्ट्रेशन की डिटेल मंगवा लेते हैं। फिर उनको फोन करके कुछ कुछ लोगों को बुला लेते हैं। इससे कियोस्क नहीं होता।

Q.लेकिन इससे आम आदमी तो सफर कर रहा है?
-उनका तो हो ही रहा है। रेगुलर काम में परेशानी नहीं है। हमने तो 100 डोज रिक्वेस्ट करके मांगी है। जैसे एक कार्यकर्ता के मां-बाप दोनों पॉजिटिव हैं। वैक्सीन की लिस्ट में जाएं तो वह खुलने से पहले बंद हो जाता है। उनको कैसे करें? ऐसे लोगों को प्राथमिकता पर लेने की बात है।

Q.वैक्सीन तो सभी को लगानी है, इससे काम सफर हो रहा है, विवाद का कारण भी?
-आज बीजेपी के पार्षद आए और हंगामा किया। इनका भी तो हुआ है। हम तो सबको साथ लेकर चल रहे हैं।

कुछ खास पीएचसी की जगह वार्डवाइज टीकाकरण क्यों नहीं हो रहा : परनामी
मैंने तो एक दिन पहले ही सीएमएचओ को रिप्रिजेंटेशन दिया था कि वैक्सीन का प्रोग्राम नियमानुसार होना चाहिए। पिक एंड चूज से वैक्सीन नहीं लगे। आज फिर गड़बड़ दिखी तो पार्षद ने विरोध किया। वैक्सीन लगाने का जो नियम है, वो फॉलो नहीं हो रहा है। महामारी क्या केवल चुनिंदा लोगों के लिए है। फिर जो नियम बना रखे हैं, उनकी पालना क्यों नहीं होनी चाहिए। गिनी चुनी पीएचसी से अलग वार्ड वाइज वैक्सीनेशन प्रोग्राम क्यों नहीं कर रहे, इससे कियोस्क कम होगा और राहत ज्यादा मिलेगी।-अशोक परनामी, पूर्व विधायक, आदर्शनगर

वैक्सीनेशन कांग्रेस का प्रोग्राम बना हुआ है
वैक्सीनेशन में बड़ी धांधली हो रही है। विधायक के घर से कार्यकर्ताओं की लिस्ट आ रही है। वैक्सीन का काम कांग्रेस का प्रोग्राम हो रहा था। विरोध किया, सख्ती दिखाई तो विधायक ने एसएचओ को कह दिया। मुझे थाने में ले गए। हमने परनामीजी और वकील समाज को कहा तो भीड़ होना लाजमी था। -सुनील दत्ता, बीजेपी पार्षद

स्टाफ को कहा है कि कोई परेशान न हो : सीएमएचओ
जनता कॉलोनी के वैक्सीनेशन सेंटर से विवाद की बात आई थी। हमने स्टाफ को साफ कर दिया जैसे वैक्सीन सब जगह लग रहे हैं, वैसे ही लगाने हैं। किसी को सफर नहीं करना पड़े।-डॉ. नरोत्तम शर्मा, सीएमएचओ और जिला प्रभारी अधिकारी

खबरें और भी हैं...