JEN भर्ती परीक्षा की CBI जांच की उठी मांग:100 से ज्यादा कट-ऑफ रहने पर अभ्यर्थियों ने कहां आउट हुआ पेपर, हरिप्रसाद बोले- मेहनत करने वालों के आए अच्छे नंबर

जयपुरएक वर्ष पहले
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा के खिलाफ शुरू किया अभियान।

राजस्थान में रीट और सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में धांधली को लेकर विवाद अभी थमा नहीं है। वहीं अब जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा परिणाम विवादों के घेरे में आ गया है। परिणाम में 100 से ज्यादा नंबर लाने वाले 3 गुना अभ्यर्थियों को फाइनल राउंड के लिए सलेक्ट किया गया है। जिसके बाद अभ्यर्थियों ने भर्ती परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए CBI जांच की मांग की है। वहीं, राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान शुरू कर दिया है। जो देशभर में ट्रेंड करने लगा है।

सोशल मीडिया पर ट्रैंड कर रहे हरिप्रसाद।
सोशल मीडिया पर ट्रैंड कर रहे हरिप्रसाद।

दरअसल, JEN भर्ती परीक्षा के परिणाम में राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने दस्तावेज सत्यापन के लिए तीन गुना अभ्यर्थियों को बुलाया है। जिसका पेपर कुल 120 अंकों का था। ऐसे में तीन गुना अभ्यर्थियों को बुलाने के बावजूद कट ऑफ 100+ नंबर की रह रही है। इसे लेकर अब परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों ने पेपर आउट होने का आरोप लगाया है। भर्ती परीक्षा में शामिल राजेश मीणा ने कहा की JEN भर्ती परीक्षा का पेपर भी लीक हुआ है। जिसकी वजह से कट ऑफ 100 से ज्यादा नंबर की रही है। ऐसे में भर्ती परीक्षा की CBI से जांच होनी चाहिए। वहीं, भर्ती परीक्षा में शामिल गौरव खत्री ने कहा कि राजस्थान के लाखों बेरोजगारों के साथ धोखा हुआ है। ऐसे में जब तक भर्ती परीक्षा की निष्पक्ष जांच नहीं हो जाती परिणाम पर रोक लगनी चाहिए।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा ने भर्ती परीक्षा में हुई धांधली की बात को सिरे से खारिज किया। शर्मा ने इस बार छात्रों को तैयारी करने के लिए 9 महीने ज्यादा समय मिला था। जिसकी वजह से पढ़ने वाले छात्रों की तैयारी काफी अच्छी थी। यही कारण है कि इस बार कटऑफ 100 से ज्यादा आ रही है। जो इससे पहले भी कई भर्ती परीक्षाओं में रह चुका है। चुनिंदा लोगों द्वारा बेवजह भर्ती परीक्षा को विवादों में लाने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चलाए जा रहे हैं। जो पूरी तरह गलत है।