हाईकोर्ट ने कहा:राेडवेज के सेवानिवृत्त कंडक्टरों को पेंशन परिलाभ क्यों नहीं दिए

जयपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हाईकोर्ट ने रोडवेज से एक साल पहले रिटायर हुए कंडक्टरों को पेंशन, ग्रेच्युटी व उपार्जित अवकाश सहित अन्य रिटायरमेंट सेवा परिलाभ नहीं देने पर रोडवेज के चेयरमैन सहित अन्य अफसरों से जवाब देने के लिए कहा है। अदालत ने यह निर्देश श्रवणलाल हरितवाल व बनवारी की याचिकाओं पर दिया। अधिवक्ता महिपाल खर्रा ने बताया कि प्रार्थी श्रवण व बनवारी रोडवेज में कंडक्टर के पद पर 1987 में नियुक्त हुए थे।

ये दोनों अपनी सेवाओं के बाद सितंबर व जून 2020 में सेवा से रिटायर हुए। लेकिन रिटायरमेंट के एक साल बाद भी इन्हें प्रोविजनल पेंशन का भुगतान नहीं किया गया। वहीं ग्रेच्युटी व उपार्जित अवकाश के अन्य सेवा परिलाभ भी नहीं दिए गए। इसे प्रार्थियों ने हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए अदालत से उन्हें पंेंशन सहित अन्य सेवा परिलाभ दिलवाए जाने का आग्रह किया। जिस पर अदालत ने रोडवेज के चेयरमैन सहित सीकर व श्रीमाधोपुर डिपो के चीफ मैनेजर को जवाब देने के लिए कहा।

खबरें और भी हैं...