उपेन समेत 9 बेरोजगारों को मिली जमानत:बुधवार को होंगे जेल से रिहा, पुलिस ने कोर्ट ने पेश कर मांगी थी रिमांड

जयपुर7 महीने पहले
फाइल फोटो

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव को कोर्ट ने जमानत दे दी है। मंगलवार को उपेन और बेरोजगारों के वकील एके जैन ने जिला न्यायालय में उनकी पैरवी की थी। जिसके बाद कोर्ट ने पुलिस की कस्टडी की मांग को खारिज करते हुए उपेन और उनके साथियों को जमानत दे दी है। ऐसे में कल उपेन और उनके साथियों के जेल से बाहर आने की संभावना है।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के रविंद्र चौधरी ने कहा कि सरकार ने बेरोजगारों पर तानाशाही पूर्ण करवाई की है। लेकिन हम सरकार की तानाशाही से डरेंगे नहीं। बल्कि वोट के माध्यम से सरकार को चुनाव में जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर के बेरोजगार नौकरी मांग रहे हैं। लेकिन नौकरी देने की जगह सरकार ने हमे जेल में बंद करने का काम कर रही है। जिसे प्रदेश की युवा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

दरअसल, उपेन यादव को पिछले दिनों पुलिस ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के बाहर से 84 बेरोजगारों के गिरफ्तार कर लिया था। जिनमें से 75 बेरोजगारों को एक दिन बाद जमानत पर छोड़ दिया। लेकिन उपेन यादव समेत 9 युवाओं को 3 नए मामले दर्ज कर फिर से गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद शनिवार को उपेन समेत 9 युवाओं को कोर्ट में पेश किया गया था। जहां से उन्हें जेल जाना पड़ा था।

बेरोजगारों की प्रमुख मांग

  • टेक्निकल हेल्पर भर्ती में पद बढाकर 6000 किये जाए।
  • पंचायतीराज विभाग JEN भर्ती की विज्ञप्ति जल्द से जल्द जारी करें l
  • जूनियर अकाउंटेंट भर्ती को CET से बाहर किया जाए।
  • राजस्थान की सरकारी नौकरियों में बाहरी राज्यों का कोटा फिक्स किया जाए।
  • रेडियोग्राफर लैब टेक्नीशियन ईसीजी भर्ती की विज्ञप्ति जारी की जाए।
  • शिक्षक भर्ती में विशेष शिक्षकों के पद बढ़ाए जाए।
  • पंचायजी राज एलडीसी 2013 मुख्य परीक्षा का कलेंडर जारी किया जाए।
  • लखनऊ और पूर्व में हुए लिखित समझौतों की तमाम मांगे जल्द से जल्द पूरी की जाएl