घर-घर जाकर बूथ को करें मजबूत- जेपी नड्डा:कहा- 60% सुनो 40% बोलो, MLA नहीं बन सके, तो नेता बन ही जाओगे

जयपुर16 दिन पहले
जयपुर पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं को कांग्रेस के खिलाफ सड़क पर उतर जनता के बीच जाने की नसीहत दी।

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक जयपुर के एंटरटेनमेंट पैराडाइज में चल संपन्न हो चुकी है। पहले सत्र की बैठक में कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने का राजनीतिक प्रस्ताव पारित हुआ। इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप पार्टी की योजनाओं को लेकर जनता के बीच जाएं और लगातार मेहनत करें। जरूरी नहीं आप को एमएलए का टिकट मिले। लेकिन आप नेता जरूर बन जाएंगे।

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि अब वक्त आ गया है। घर घर जाकर लोगों से जनसंपर्क करें। ढोल बजाकर रैली निकलने से कुछ नहीं होगा। लोगों से व्यक्तिगत जुड़ाव बनाना जरूरी है। हमें केंद्र सरकार की योजनाओं को और कांग्रेस की विफलताओं को जनता के बीच पहुंचना होगा। तभी हम राजस्थान की जनता को अपने साथ जोड़ पाएंगे।

नड्डा ने कहा कि सभी नेता और कार्यकर्ताओं को अपने बूथ की हर छोटी जानकारी होनी चाहिए। उन्हें पता होना चाहिए उनके बूथ में टोटल कितने वोट हैं। किस जाति के कितने वोट हैं। महिला कितनी हैं, एससी-एसटी और दूसरे वर्ग के कितने वोट हैं। युवा वोटर कितने हैं, नव मतदाता कितने हैं। अगर पार्टी कार्यकर्ता के पास यह जानकारी नहीं होगी। तो इसका मतलब उसकी उस बूथ पर पकड़ कमजोर है। इसलिए सक्रियता पार्टी कार्यकर्ता के लिये सबसे जरूरी है।

जयपुर में आयोजित भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति मे पहुंचे प्रभारी अरूण सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि लोकतंत्र में शुचिता कायम रहनी चाहिए। नहीं तो लोकतांत्रिक व्यवस्था खराब होती है।

राजस्थान बीजेपी प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि कांग्रेस में प्रतिशोध की राजनीति चल रही है। नाकारा, निकम्मा और कोरोना जैसे शब्दों का प्रयोग किया जा रहा है। राजनीति का इससे गंदा उदाहरण मैंने इससे पहले कहीं नहीं देखा। सिंह ने कहा कि 4 साल में 400 बार कांग्रेसियों के झगड़े ने हाईकमान तक को चुनौती दे डाली। मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री पायलट में आपसी मनमुटाव जगजाहिर हो चुका है। जिसके चलते प्रदेश की जनता परेशान हो रही है।

इससे पहले MLA ​​​​​ वासुदेव देवनानी ने कहा- राजस्थान में हालात इतने बिगड़ गए हैं कि नवंबर से पहले भी चुनाव हो सकते हैं। वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी बैठक में पहुंच गए हैं। जो प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल हो रहे हैं।

बीजेपी के बड़े नेता कार्यसमिति की बैठक में पहुंचे।
बीजेपी के बड़े नेता कार्यसमिति की बैठक में पहुंचे।

बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सोमवार को राजनीति प्रस्ताव पास हुआ। जिसमें राजस्थान से गहलोत सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया गया। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि प्रदेश में जंगलराज है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो गई है। जहां केंद्र सरकार भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए काम कर रही है। वहीं गहलोत सरकार राजस्थान को पीछे धकेलने का काम कर रही है। युवाओं के साथ धोखा किया जा रहा है। बार-बार पेपर लीक होने से युवा परेशान है। चौधरी ने कहा कि प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में तय हुआ है कि जनता से जुड़े मुद्दों को उठाया जाएगा और कांग्रेस के खिलाफ सड़कों पर बीजेपी आंदोलन करेगी।

विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा- राजस्थान में असहाय मुख्यमंत्री राज कर रहा है। प्रशासन ठप है, 1 लाख से अधिक शिक्षकों के पद खाली हैं। तुष्टिकरण की नीति पर सरकार काम कर रही है। धर्मांतरण की बातें सामने आ रही हैं। विशेष समुदाय के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिससे जनता में आक्रोश है। देवनानी ने कहा कि सरकार ने अब तक जो घोषणाएं की है। उसका श्वेत पत्र जारी किया जाए। ताकि दूध का दूध पानी का पानी हो जाए। उन्होंने कहा कि कार्यकर्तओं को संकल्प दिलाया है कि जब तक राजस्थान में डबल इंजन की सरकार नहीं बनती। तब तक चुप नहीं बैठेंगे। ऐसे हालत में राजस्थान में नवंबर से पहले भी चुनाव हो सकते है।

कार्यसमिति की बैठक में इस सतीश पूनिया समेत BJP के आला नेता रहेंगे मौजूद।
कार्यसमिति की बैठक में इस सतीश पूनिया समेत BJP के आला नेता रहेंगे मौजूद।

इससे पहले रविवार को प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में विधानसभा सत्र के दौरान सरकार को घेरने की रणनीति बनाई गई। वहीं गुटबाजी खत्म कर पार्टी को मजबूत करने की रणनीति पर चिंतन और मंथन किया गया। पदाधिकारियों की बैठक में पार्टी के बूथ स्तर के कार्यकर्ता को एक्टिव करने पर चर्चा की गई। जिसके तहत पार्टी पदाधिकारियों ने प्रदेशभर में प्रतिनिधि सम्मेलन आयोजित करने का फैसला किया।

वहीं जन-आक्रोश अभियान की तर्ज पर अब जिला स्तर पर कांग्रेस को घेरने के लिए 15 फरवरी से 15 मार्च तक प्रदर्शन और सभा करने का फैसला किया गया। बैठक में नव मतदाता अभियान और फोटो युक्त बूथ समिति तैयार करने पर भी चर्चा की गई।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार सभी मोर्चों पर विफल हो चुकी है। 4 साल के दौरान बजट घोषणाओं में से अब तक 20% वादे भी पूरे नहीं हो पाए हैं। वही पेपर लीक और बेरोजगारी ने प्रदेश के युवाओं को हताश कर दिया है। ऐसे में राजस्थान सरकार की कथनी और करनी के अंतर के खिलाफ राजस्थान BJP सड़क से लेकर सदन तक कांग्रेस के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी।

जयपुर की बेटी से हो रही नड्डा के बेटे की शादी
BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के बेटे हरीश की शादी जयपुर की रिद्धि से हो रही है। ऐसे में आज कार्यसमिति की बैठक के बाद 25 जनवरी तक नड्डा अपने बेटे हरीश की वैडिंग सेरेमनी के फंक्शंस अटैंड करेंगे। 26 जनवरी को जयपुर से उनका परिवार बहू रिद्धि के साथ ही विदाई लेगा। बता दें कि नड्डा के बेटे की शादी होटल इंडस्ट्री बिजनेसमैन रमाकांत शर्मा की बेटी रिद्धि से हो रही है। 24 और 25 जनवरी को शादी समारोह की अलग- अलग रस्में होंगी। वहीं 25 जनवरी की शाम जयपुर के होटल राजमहल पैलेस वैडिंग सेरेमनी है। जहां शादी का जश्न और डिनर पार्टी का प्रोग्राम है। इसमें कई VVIP मेहमानों के आने की सम्भावना है।

नड्ढा की दोनों बहू राजस्थानी
जेपी नड्डा के दोनों बेटों की शादी का नाता राजस्थान से जुड़ा है। हरीश से पहले फरवरी 2020 में जेपी नड्डा के बड़े बेटे गिरीश नड्डा की शादी हनुमानगढ़ के रहने वाले कारोबारी अजय ज्याणी की बेटी प्राची से हो चुकी है। उस वक्त पुष्कर में गुलाब बाग पैलेस में हिमाचली और राजस्थानी रीति-रिवाज से शादी हुई थी। राजस्थान से विदाई के बाद हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में पैतृक निवास में वधू को गृह-प्रवेश करवाया गया था।