राजस्थान में तूफान, कोटा में 2 की मौत:75KM स्पीड से चली आंधी; बिजली के पोल-पेड़, टीनशेड, कच्चे घर गिरे

जयपुर3 महीने पहले
राजधानी जयपुर में आसमान में काफी देर तक धूल-मिट्टी का गुबार छाया रहा। कई जगहों पर पेड़ गिर गए। - Dainik Bhaskar
राजधानी जयपुर में आसमान में काफी देर तक धूल-मिट्टी का गुबार छाया रहा। कई जगहों पर पेड़ गिर गए।

राजधानी जयपुर में बीती रात आए तूफान ने जबरदस्त तबाही मचाई। जयपुर शहर और आसपास के क्षेत्रों में 50 से ज्यादा पेड़ और बिजली के पोल गिर गए। इसके कारण कुछ जगह गाड़ियां डेमेज होने के साथ ही रास्ता जाम हो गया। तूफान का सबसे ज्यादा असर जयपुर शहर की बिजली सप्लाई पर रहा। कई इलाकों में 4 घंटे तक बिजली गुल रही।

75KM की स्पीड से चले इस तूफान से जयपुर में घरों में धूल-मिट्‌टी भर गई। बनीपार्क स्थित माधोसिंह सर्किल, प्रताप नगर हल्दीघाटी मार्ग पर बिजली का पोल गिर गया, जबकि घाटगेट स्थित कोलियों की कोठी, राजापार्क, आदर्श नगर, सिविल लाइन्स और विद्याधर नगर में कई जगह पेड़ टूटकर रोड पर गिर गए। विद्याधर नगर में एक कॉलोनी में पोल गिरने से रास्ता जाम हो गया। सिविल लाईन्स में भी एक मकान के बाहर विशालकाय पेड़ गिर गया, जिससे उसके नीचे एक कार डेमेज हो गई।

तूफान के कारण जयपुर में कई बिजली के पोल गिर गए और तार टूटने से फॉल्ट हो गया, जिससे रात में शहर का अधिकांश हिस्सा अंधेरे में डूब गया। कई कॉलोनियों में रात करीब 10:30 बजे गुल हुई बिजली की सप्लाई रात 12 बजे बाद तक नहीं हुई। कॉल सेंटर पर भी 50 से ज्यादा शिकायतें आई।

जयपुर में देर रात कड़की जोरदार बिजली से कुछ सेकेंड के लिए उजाला हो गया।
जयपुर में देर रात कड़की जोरदार बिजली से कुछ सेकेंड के लिए उजाला हो गया।

4 फ्लाइट्स डायवर्ट कर अहमदाबाद भेजी
खराब मौसम का असर हवाई सेवा पर भी पड़ा। जयपुर एयरपोर्ट पर हवा तेज चलने और धूल का गुबार छाने से विजीबिलिटी 600 मीटर से भी कम होने के कारण 4 फ्लाइट्स को डायवर्ट कर अहमदाबाद भेजना पड़ा। इसमें इंडिगो की हैदराबाद-जयपुर फ्लाइट, दिल्ली-जयपुर फ्लाइ,ट स्पाइस जेट की वाराणासी-जयपुर और सूरत-जयपुुर फ्लाइट्स को अहमदाबाद भेजना पड़ा।

कोटा में 2 की मौत, 5 घायल

मौसम का ये रूप जयपुर के अलावा चूरू, सीकर, झुंझुनूं, दौसा, टोंक, कोटा, बूंदी, सवाई माधोपुर में भी देखने को मिला। इन जिलों में पेड़, टीनशैड, कच्चे घर और बिजली के पोल-ट्रांसफार्मर गिर गए। कोटा में अलग-अलग हादसों में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 5 लोग घायल हो गए। घायलों को एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया है। रेलवे कॉलोनी इलाके में रंग पूर्व प्रताप कॉलोनी में तेज आंधी के चलते मकान की दीवारें गिर गईं। इस हादसे में गोलू नाम का युवक घायल हो गया, जिसे इलाज के लिए हॉस्पिटल लाया गया, लेकिन उसने वहां पहुंचते ही दम तोड़ दिया। इसी तरह नयापुरा थाना इलाके में पेड़ के नीचे दबने से एक युवक की मौत हो गई। बोरखेड़ा इलाके में मकान की दीवार गिरने के चलते 4 लोग घायल हो गए इनमें 2 बच्चे भी शामिल हैं।

कोटा में तूफान के दौरान हुए हादसे के घायलों को एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
कोटा में तूफान के दौरान हुए हादसे के घायलों को एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

इस हादसे में गोलू नाम का युवक घायल हो गया, जिसे इलाज के लिए हॉस्पिटल लाया गया, लेकिन उसने वहां पहुंचते ही दम तोड़ दिया। इसी तरह नयापुरा थाना इलाके में पेड़ के नीचे दबने से एक युवक की मौत हो गई। बोरखेड़ा इलाके में मकान की दीवार गिरने के चलते 4 लोग घायल हो गए इनमें 2 बच्चे भी शामिल हैं।

तूफान के कारण सरदार शहर में गौशाला की दीवार ढह गई।
तूफान के कारण सरदार शहर में गौशाला की दीवार ढह गई।

11 डिग्री सेल्सियस तक नीचे आया दिन का तापमान
इससे पहले सोमवार को प्रदेश के कई हिस्सो में मौसम कुछ ऐसा ही रहा। कोटा, हनुमानगढ़, गंगानगर, टोंक, अलवर में बारिश-आंधी और ओलावृष्टि हुई और दिन का तापमान गिरकर 40 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला गया। हनुमानगढ़ जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान दिन के तापमान में 11.4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट 32.3 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जो पूरे प्रदेश में कल दिन में सबसे ठंडा एरिया रहा। इसी तरह करौली, अलवर में भी दिन का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया।

जयपुर में सड़क किनारे लगी दुकानों को हुआ नुकसान।
जयपुर में सड़क किनारे लगी दुकानों को हुआ नुकसान।

4 शहरों को छोड़कर सभी शहरों में पारा 40 से नीचे
राज्य में इस मौसम के कारण बारां, जैसलमेर, बाड़मेर और कोटा को छोड़कर सभी शहरों में दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया। करौली, अलवर, हनुमानगढ़, धौलपुर, उदयपुर, पिलानी और जयपुर में तो दिन का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे दर्ज हुआ। जयपुर में तो दिन और रात के तापमान में केवल 4 डिग्री सेल्सियस का उतार-चढ़ाव हुआ।

4 फ्लाइट्स डायवर्ट कर अहमदाबाद भेजी
खराब मौसम का असर हवाई सेवा पर भी पड़ा। जयपुर एयरपोर्ट पर हवा तेज चलने और धूल का गुबार छाने से विजिबिलिटी 600 मीटर से भी कम होने के कारण 4 फ्लाइट्स को डायवर्ट कर अहमदाबाद भेजना पड़ा। इसमें इंडिगो की हैदराबाद-जयपुर फ्लाइट, दिल्ली-जयपुर फ्लाइट, स्पाइस जेट की वाराणसी-जयपुर और सूरत-जयपुर फ्लाइट्स को अहमदाबाद भेजना पड़ा।

प्रदेश के प्रमुख शहरों का तापमान

शहरअधिकतम तापमान (23 मई)
अजमेर35.9
भीलवाड़ा37
जयपुर33.8
पिलानी34.4
सीकर36.5
कोटा40
उदयपुर34.5
बाड़मेर40.7
जैसलमेर43.3
जोधपुर36.8
बीकानेर39.7
चूरू38.5
गंगानगर35.9
धौलपुर34.2
नागौर37.9
बूंदी38.5
बारां40
चित्तौड़गढ़36.8
डूंगरपुर36.1
हनुमानगढ़32.3
जालौर37.5
सिरोही35.8
सवाई माधोपुर37
अलवर32.2
करौली33.3

जयपुर के सांभर में 2 इंच बरसात
मौसम केन्द्र जयपुर और जलसंसाधन विभाग से मिली रिपोर्ट के मुताबिक जयपुर के संभार क्षेत्र पिछले 24 घंटे के दौरान 53MM यानी 2 इंच से ज्यादा बरसात हुई। इसी तरह जयपुर के फुलेरा में 36, शाहपुरा में 25, पावटा में 33, नरैना में 32, विराटनगर में 22, सांगानेर में 20, फागी में 13MM बरसात रिकॉर्ड हुई। वहीं सवाई माधोपुर के वजीरपुर में 15, बामनवास में 10, झालावाड़ के खानपुर में 8, मनोहरथाना 10, झालरापाटन 18, झुंझुनूं जिले की तहसील में 28, गुढा में 16, खेतड़ी में 15, बुहाना में 6, मलसीसर में 19, मंडावा में 11, सूरजगढ़ में 10, चिड़ावा में 28, उदयपुरवाटी 20, बारां जिले के छबड़ा में 17, छीपाबड़ौद में 9, बूंदी के हिंडौली में 38, केशवरायपाटन 16, अजमेर के मसूदा में 22.5, बिजयनगर में 13, केकड़ी में 28, अजमेर शहर में 17, पुष्कर में 13, हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में 20, संगरिया में 10, टिब्बी में 16, नागौर के लाडनू में 15, परबतसर, डेगाना में 13-13, कोटा के कानावास में 39, रामगंजमंडी में 17, चूरू के सरदारशहर में 27, सूजानगढ़ में 20, तारानगर में 19, चूरू शहर में 16, रतनगढ़ में 12, भीलवाड़ा के बिजौलिया में 11MM समेत कई ऐसे इलाके है जहां देर रात बारिश हुई।