पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पावटा और आसपास के गांवों में बंदरों का आतंक:रसोई में घुसा बंदर, महिला पर हमला, अब तक 5 जख्मी

पावटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे में एक उत्पाती बंदर करीब सप्ताह भर से आतंक मचाया हुआ है। जिसने महिलाओं सहित अब तक पांच जनों को गंभीर रूप से घायल कर दिया है। कुछ दिनों से कस्बे में डेरा जमाए बंदरों के झुंड में शामिल एक बड़ा उत्पाती बंदर लोगों पर हमलावर हो गया है। इस बंदर का खौफ इस कदर है कि लोग छत पर चढ़ने के पहले तसल्ली कर लेते हैं कि आसपास वह बंदर तो नहीं है।

कस्बे के वार्ड 9 निवासी संजय गौड ने बताया कि बंदर घर में रसोई के अंदर फ्रीज के पीछे बैठा था। जैसे ही माताजी प्रेम देवी फ्रीज से सामान निकालने गई तो बंदर ने उन पर हमला कर दिया जिससे वह घायल हो गई, जिनका एक निजी हॉस्पिटल में उपचार करवाया गया है। एक दिन पहले भी बालिका व दो महिलाओं पर उत्पाती बंदर ने हमला कर घायल कर दिया था। जीएसएस पावटा डायरेक्टर नीरज सैन व ब्राह्मण महासभा पावटा उपाध्यक्ष चन्द्र प्रकाश गौड, हितेन्द्र लाटा सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि बंदर लोगों के घरों में घुस कर लोगों को घायल कर रहा है। उसके बावजूद पावटा प्रागपुरा नगरपालिका प्रशासन द्वारा बंदर को पकडवाने के लिए कदम नहीं उठाया जा रहा है।

पिंजरे में नहीं आ रहे बंदर
पावटा वनपाल बाबूलाल ने बताया कि बंदर पकड़ने के लिए वार्ड 11 में एक सप्ताह पहले पिंजरा लगाया गया था, लेकिन उसमें भी एक भी बंदर नहीं आया है। अब दूसरे प्रयास कर बंदरों को जल्दी ही पकडा जाएगा।

कस्बे में बंदरों के आंतक को देखते हुए नगरपालिका द्वारा जल्द ही टैंडर जारी कर इनको पकड़ने का कार्य किया जाएगा।
-विक्की शर्मा, ईओ नगरपालिका पावटा-प्रागपुरा।

खबरें और भी हैं...