कार्यक्रम:भ्रष्टाचार मिटाने के लिए एसीबी ने डारडातुर्की गांव को लिया गोद

पीपलू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजीव गांधी सेवा‎ केन्द्र में गांवों के चहुंमुखी विकास के लिए अभियान शुरू‎

एसीबी ने भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाने के साथ ही गांवों के चहुंमुखी विकास कराने का अभियान शुरू किया है। इसके लिए टोंक एसीबी ने ग्राम पंचायत डारडातुर्की गांव को गोद लेकर बतौर सजग ग्राम विकसित करने को लेकर मंगलवार को राजीव गांधी सेवा केन्द्र में सजग ग्राम कार्यक्रम आयोजित करते हुए इसकी शुरुआत की है। एंटी करप्शन जागरूकता सप्ताह के तहत डारडातुर्की में एसीबी टोंक के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आहद खान ने कहा कि राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की सोच को ध्यान में रखते हुए सामाजिक जिम्मेदारी के तौर पर ग्राम पंचायत डारडातुर्की को गोद लिया गया है। जिसके तहत ग्रामवासियों को कभी रिश्वत नहीं देने का संकल्प दिला भ्रष्टाचार विरोधी जागरुकता फैलाने का आह्वान किया। गांववासियों को अपने वैध कार्य के लिए किसी को रिश्वत नहीं देने की बात बताई।

उन्होंने कहा कि जन कल्याणकारी योजनाओं के लिए प्रशासन के साथ सामंजस्य स्थापित करने का काम किया जाएगा। प्रदेश में कुल 51 गांवों को सजग ग्राम के तौर पर गोद लिया गया है। जिसमें टोंक जिले में डारडातुर्की ग्राम पंचायत का भी चयन किया गया है। इस दौरान आमजन को एसीबी की कार्यप्रणाली से भी अवगत करवाया गया। वहीं इस मौके सरपंच अब्दुल करीम ने पंचायत के कार्यों की जानकारी दी। इस दौरान भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए गोपनीय रूप से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो मित्र भी मनोनीत किए। साथ ही एसीबी के व्यापक प्रचार प्रसार के लिए गांव में सार्वजनिक स्थानों पर हैल्प लाईन नंबर 1064 एवं वाट्सऐप नंबर 9413502834 तथा एसीबी टोंक कार्यालय के नंबर चस्पा किए गए। इस मौके नंदू गिर्राज गुर्जर, डारडातुर्की प्रधानाचार्य, एसीबी के हेड कांस्टेबल मनोज वैष्णव, राकेश कुमार आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...