पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागवत कथा:भागवत कथा के अंतिम दिन बताई जीने की कला

पीपलू10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उपखंड क्षेत्र के झिराना में समाधि वाले बाबा (जिन्द बाबा) स्थल पर श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के अंतिम दिन कथावाचक बिहारीशरण शास्त्री ने कथा का सारांश सुनाकर जीवन को जीने की कला भी समझाई। कई उपदेशात्मक वृतांत सुनाकर भक्तों को निहाल भी किया। व्यासपीठ से कथावाचक ने सातों दिन की कथा का सारांश किया। उन्होंने बताया कि जीवन कई योनियों के बाद मिलता है। इसे कैसे जीना चाहिए, यह भी समझाया। सुदामा चरित्र को विस्तार से सुनाया। कृष्ण और सुदामा की निश्छल मित्रता का वर्णन करते हुए बताया कि कैसे बिना याचना के कृष्णा ने गरीब सुदामा का उद्धार किया। मित्रता निभाते हुए सुदामा की स्थिति को सुधारा। गौवध, कन्या भ्रूण हत्या का विरोध और गौ सेवा करने पर भी कथावाचक ने जोर दिया। कथा के समापन अवसर पर महाआरती व प्रसाद का वितरण किया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें