मंदिरों में अन्नकूट का भोग:लक्ष्मीजी और गोवर्धन पूजा की, मंदिरों में अन्नकूट का भोग

पीपलू24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तहसील भर में दीपावली, अन्नकूट एवं भैया दूज का त्योहार हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। गुरूवार को दीपावली पर घरों को दीपक जला कर घरों को रोशन किया। शाम को मुहूर्त अनुरूप लक्ष्मीजी की पूजा कर धन संपदा व सुख शांति की कामना की गई। शुक्रवार को सुबह घर की दहलीज पर महिलाओं ने गाय के गोबर का गोवर्धन बना कर पूजा की।

शाम को मंदिरों में अन्नकूट महोत्सव के तहत कल्याणजी के मंदिर, चौथमाता मंदिर, गोपीनाथ मंदिर, राम मंदिर, चारभुजा मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, गोविंददेव सहित सभी प्रमुख मंदिरों में विशेष झांकी सजाकर अन्नकूट का भोग लगाया गया। तत्पश्चात श्रद्धालुओं को अन्नकूट की प्रसादी वितरित की गई। किसानों के सुख दु:ख के साथी, जीवन यापन के सारथी बैलों के पूजन की परंपरा का निर्वाह अब ट्रेक्टरों का पूजन करके किया गया। इस अवसर पर महिलाओं ने मंगल गीत गाए तथा युवाओं ने आतिशबाजी की। शनिवार को भैया दूज पर बहनों ने अपने भैयाओं के तिलक लगा कर भोजन करवाया।

खबरें और भी हैं...