पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंडल अध्यक्षों का आरोप:पुलिस बजरी की शिकायत करने वालों को ही फंसाती है

फागी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फागी थाने पर धरना-प्रदर्शन कर एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

15 दिन पूर्व माधोराजपुरा मंडल अध्यक्ष रामेश्वर मीणा को बजरी के मामले में पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में गुरुवार को फागी थाने में परिवाद देकर भाजपाइयों ने धरना प्रदर्शन किया था। लेकिन अगले दिन शुक्रवार को रेनवाल मांजी मंडल अध्यक्ष महेश चौधरी व माधोराजपुरा मंडल अध्यक्ष रमेश मीणा के नेतृत्व में सैकड़ों लोग तहसील पहुंचकर पुलिस के खिलाफ एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर धरना प्रदर्शन किया।

दोनों मंडल अध्यक्षों ने ज्ञापन में पुलिस के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि आमजन पुलिस को बजरी माफियाओं के खिलाफ शिकायत करता है लेकिन पुलिस बजरी माफियाओं से मिलकर शिकायत करने वाले व्यक्ति को फंसा देती है और बजरी माफियाओं से धमकियां दिलवाती है। इसके चलते फागी इलाके में लगातार अवैध बजरी का कारोबार बढ़ता जा रहा है। जिससे गैंगवार, अपराध व लूटमार जैसी घटनाओं का ग्राफ बढ़ रहा है। एसडीएम गौरी शंकर शर्मा ने बताया कि भाजपाइयों से ज्ञापन ले लिया है ज्ञापन को मुख्यमंत्री के नाम भेज दिया है।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ की नारेबाजी, केस दर्ज नहीं करने पर थाने का घेराव करने की चेतावनी दी
मंडल अध्यक्ष रामेश्वर मीणा व महेश चौधरी ने बताया कि गुरुवार को एएसपी ज्ञान प्रकाश नवल को गिरफ्तारी का विरोध करते हुए परिवार सौंपा था। जांच अधिकारियों के खिलाफ अगर केस दर्ज नहीं हुआ व कार्रवाई नहीं हुई तो पुलिस के खिलाफ थाने का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री से मुखातिब होकर जांच के लिए गुहार लगाएंगे। मंडल अध्यक्ष रामेश्वर मीणा ने बताया कि भाजपाइयों के द्वारा लगातार अवैध बजरी के खिलाफ ज्ञापन दे रहे हैं।

तत्कालीन थाना अधिकारी हरिनारायण शर्मा को कई बार मौखिक रूप से अवगत करवाया था लेकिन कार्रवाई नहीं होने की वजह से इलाके में दहशत का माहौल है। इस मौके पर जिला महामंत्री एससी मोर्चा भाजपा कैलाश नागरवाल, भाजपा नेता कृष्ण सिंह, भाजपा मण्डल महामंत्री माधोराजपुरा कृष्ण कुमार शर्मा, मण्डल उपाध्यक्ष मोहन शर्मा, राकेश कुमार शर्मा, सूरज शर्मा, राकेश माली, मूलचंद माली, कालू खटीक, शम्भू सिंह, गफ्फार खान, देवेन्द्र सिंह, ग्यारसीलाल जाट, सद्दाम कृष्ण सिंह सहित कई लोग मौजूद रहे।

पुलिस के खिलाफ आरोप लग रहे हैं यह गंभीर मामला है। सीआईडी में जांच चल रही है। झूठे मुकदमे में फंसाने के मामले की निष्पक्षता से जांच करवाई जाएगी।
- बाबूलाल नागर, विधायक

खबरें और भी हैं...