बाड़ेबंदी शुरू:सपोटरा में 4 बार कांग्रेस, 2 बार भाजपा और एक बार निर्दलीय प्रधान बने, प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी शुरू

सपोटराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्य के लिए रविवार को संपन्न हुए प्रथम चरण के चुनावों के बाद भाजपा,कांग्रेस व बसपा ने बाड़ेबंदी शुरू कर दी है। वहीं पंचायत चुनाव में गहलोत सरकार में पंचायतीराज मंत्री रमेशचंद मीणा, भाजपा जिलाध्यक्ष बृजलाल डिकोलिया सहित बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष हंसराज बालौती की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। ऐसे में 23 दिसंबर को होने वाले प्रधान के चुनावों के लिए राजनीतिक पार्टियों में पंचायत समिति सपोटरा में प्रधान पद की जद्दोजहद तेज हो गई है। पंचायत समिति सपोटरा में वर्तमान में 25 वार्ड है। जिसमें से वार्ड 12 में भाजपा व बसपा प्रत्याशी का नामांकन निरस्त होने के कारण कांग्रेस की गौरी देवी का निर्विरोध निर्वाचन हो गया है। दूसरी ओर वार्ड नं. 10 से कांग्रेस की लच्छा देवी तथा वार्ड 12 से भाजपा की सोनू बाई व वार्ड नं. 23 से भाजपा की छोटी बाई तथा वार्ड 12 से बसपा की कन्नी देवी का नामांकन निरस्त होने के कारण 24 वार्डों के लिए चुनाव में कांग्रेस व भाजपा ने 23-23 प्रत्याशी और बसपा ने 11 उम्मीदवारों को चुनावी रण में उतारा था तथा 23 निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी रण में राजनीतिक पार्टियों का गणित बिगाड़ने के लिए डटे हुए थे।

पंचायत समिति सपोटरा में प्रधान बनाने के लिए एक राजनीतिक दल को 13 पंचायत समिति सदस्य की आवश्यकता होगी। जिसके लिए प्रथम चरण का संपन्न होने के तुरंत बाद ही सभी राजनीतिक दलों के आलाकमानों ने संभावित विजयी उम्मीदवारों को तलब कर भूमिगत कर दिया गया है। सपोटरा पंचायत समिति के सन 1982 से 2020 तक के 39 साल के इतिहास में चार बार कांग्रेस,दो बार भाजपा तथा एक बार निर्दलीय प्रधान बैठे है। पंचायत समिति सदस्य के चुनावों में वार्ड 1 से भाजपा के दिग्गज नेता रामलखन मीणा की पुत्रवधू व पूर्व प्रधान शकुंतला मीणा की भाभी सफेदी बाई तथा प्रभुलाल फौजी की पुत्रवधू कांग्रेस की फूलवती बैरवा,वार्ड 2 से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी राधेश्याम माली,वार्ड 3 से सरपंच रामखिलाड़ी मीणा के समर्थक कांग्रेस के प्रकाश,वार्ड 4 में पूर्व सरपंच जगन एकट की पुत्रवधू कांग्रेस की रेखा मीणा,वार्ड 5 से पूर्व सरपंच कीर्तनचंद की पत्नी कांग्रेस की आशा कंवर व पूर्व सरपंच भंवरसिंह की पत्नी भाजपा की लज्जा कंवर,वार्ड 7 में रिटायर्ड प्रधानाचार्य प्रभुदयाल के पुत्र कांग्रेस के हेमराज,वार्ड 11 से सरपंच रामचरण मीणा की पुत्रवधू कांग्रेस की सरूपी देवी तथा भारतीय किसान संघ के पूर्व तहसील अध्यक्ष श्रीलाल फौजी की पत्नी भाजपा से लखन बाई,वार्ड 14 से पूर्व सरपंच समयराज की पत्नी भाजपा की रबीना देवी,वार्ड 18 से पूर्व सरपंच उमर खां के समर्थक कांग्रेस के राजकुमार शर्मा,वार्ड 15 से पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष विक्रम सिंह मीणा की पत्नी प्रीतम बाई और बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष हंसराज बालौती की मां व पूर्व सरपंच रामसिंह मीणा की पत्नी निर्दलीय कमली देवी,वार्ड नं. 22 से पूर्व सरपंच संघ अध्यक्ष मुकेश गोठरा की पत्नी कांग्रेस की कमलेश देवी की प्रतिष्ठा दांव पर लगने के साथ उनका भाग्य ईवीएम में बंद है।

खबरें और भी हैं...