पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पक्षियों में संक्रमण जारी:बर्ड फ्लू में होते हैं 11 स्ट्रेन, 5 स्ट्रेन इंसानों के लिए जानलेवा

सवाई माधोपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 6 पक्षी और मृत मिले, अब तक 108 पक्षियों की मौत, यह फ्लू इंसान के लिए भी खतरनाक
  • गंगापुर पोल्ट्री और सवाई मीट की दुकानों से कुल 117 सैंपल रोग निदान केंद्र जयपुर भेजे

जिले में मृत पक्षियों के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। गत दिनों 5 मृत कौओं के सेंपल की रिपोर्ट भोपाल से पॉजीटिव आने के बाद से लगातार जारी पक्षियों के मरने के सिलसिले से संक्रमण फैलने का डर अब धीरे-धीरे गहराता जा रहा है। मंगलवार को भी जिले में 6 पक्षी मृत मिले हैं। इनमें 3 पक्षी जिला मुख्यालय पर व 3 गंगापुर के जाट बडोदा में मिले हैं। मृत पक्षियों में 5 कौए व एक अन्य प्रजाति का पक्षी है। आरआर टीम ने मृत पक्षियों के सैंपल लेकर मृत पक्षियों को डिस्पोज किया।इसके अलावा टीम सदस्यों ने मृत मिले पक्षियों के स्थानों पर सेनेटाइज भी किया। पशु चिकित्सक डॉ. ज्योति गुप्ता ने बताया कि जिले में अब तक 108 मृत पक्षी मिले हैं। इनमें 77 कौए व 7 मोर तथा 24 पक्षी अन्य प्रजाति के है। अब तक मृत पक्षियों के साथ ही पोल्ट्री के कुल 117 सैंपल लेकर राज्य रोग निदान केंद्र जयपुर भेजे गए हैं। इनमें से 5 सैंपलों की रिपोर्ट हीआई है। शेष सैंपलों की रिपोर्ट अभी आना बाकी है।

पशु चिकित्सक : संक्रमित पक्षी मल या लार के जरिए रिलीज करता है वायरस

बर्ड फ्लू पक्षियों से इंसानों या जानवरों में भी फैल सकता हैरण थंभौर बाघ परियोजना के वरिष्ठ पशु चिकित्साधिकारी डॉ. चंद्रप्रकाश मीणा ने बताया कि बर्ड फ्लू खतरनाक बीमारी है। यह एंफ्लूएंजा टाइप एच 5 एन 1 वायरस की वजह से फैलती है। इसे एवियन एंफ्लूएंजा भी कहा जाता है। बर्ड फ्लू पक्षियों से इंसानों या दूसरे जानवरों में भी फैल सकता है। एच 5 एन 1 से संक्रमित पक्षी करीब 10 दिनों तक मल या लार के जरिए वायरस रिलीज करता है। एच 5 एन 1 बर्ड फ्लू वायरस किसी सतह के जरिए भी इंसानों को संक्रमित कर सकता है। संक्रमित पक्षी के मल, नाक, मुंह या आंखों से निकलने वाले पदार्थ के संपर्क में आने पर इंसान संक्रमित हो सकता है।5 वायरस सबसे ज्यादा घातक जो इंसानों को संक्रमित करते हैंपशु चिकित्साधिकारी डॉ. ज्योति गुप्ता के अनुसार बर्ड फ्लू के मामले इंसानों में भी पक्षियों के माध्यम से फैल सकता है। बर्ड फ्लू के 11 स्ट्रेन होते हैं। इनमें पांच वायरस ही इंसानों को संक्रमित करते हैं, ये जानलेवा भी हैं। इंसानों के लिए जानलेवा वायरस एच5एन1, एच7एन3, एच7एच7, एच7एन9 और एच9एन2 है। अभी कौए में एच5एन8 वायरस मिल रहा है। लेकिन कोविड की तरह स्ट्रेन बदलता है, तो संक्रमण बढ़ सकता है। अन्य पक्षियों में जाने से इसका स्ट्रेन बदलता है। मुर्गियों में इसका स्ट्रेन एच5एन1 हो जाता है।

पक्षियों की बीट को छूने से भी फैल सकता है संक्रमण : विशेषज्ञफोरेस्ट कंजर्वेशन बायोलॉजिस्ट धर्मेंद्र खांडल ने बताया कि बर्ड फ्लू के संक्रमण से बचने का कारगर उपाय यह है कि पक्षियों के सीधे संपर्क में न आएं। उनकी बीट को भी नहीं छूना चाहिए। जो लोग अंडा या चिकन खाते हैं, वे इसे खरीदने जाएं, लेकिन खरीदारी के वक्त और मीट काटने के दौरान ग्लब्स जरूर पहनें। इसके तुरंत बाद हाथ सेनेटाइज करें या साबुन से हाथ धोएं। नॉनवेज अच्छे से पकाकर ही खाएं। इससे रिस्क खत्म हो जाता हैं। मुर्गी फार्म में काम करने वाले लोगों को संक्रमण का खतरा अधिक है। बर्ड फ्लू का वायरस तापमान के प्रति संवेदनशील है और अधिक कुकिंग टैंपरेचर में नष्ट हो जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत व परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होगा। किसी विश्वसनीय व्यक्ति की सलाह और सहयोग से आपका आत्म बल और आत्मविश्वास और अधिक बढ़ेगा। तथा कोई शुभ समाचार मिलने से घर परिवार में खुशी ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser