पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मित्रपुरा कस्बे की घटना:मृत्यु के बाद श्मशान में भी नहीं आए परिजन, पुलिस और प्रशासन ने किया अंतिम संस्कार

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दाह संस्कार करते पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
दाह संस्कार करते पुलिसकर्मी।
  • चौकी इंचार्ज और तहसीलदार ने प्रोटोकॉल अपनाया

मित्रपुरा कस्बे में शुक्रवार को एक पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद कस्बे के श्मशान घाट में दाह संस्कार किया गया। क्षेत्र में ये कोरोना से दूसरी मौत हुई है इससे पहले एक महिला की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को किए दाह संस्कार में पुलिस ने मानवता की मिसाल पेश की।

लाइव दाह संस्कार में मृतक जगदीश पुत्र मदन मोहन शर्मा उम्र 50 निवासी मित्रपुरा के शव का पीपीई किट पहनने के बाद पुलिस ने दाह संस्कार किया। इस दौरान चौकी इंचार्ज मुकेश कुमार और तहसीलदार बृजेश मीना मौके पर मौजूद रहे।

परिजन श्मशान तक भी नहीं पहुंचे

शव का दाह संस्कार करने के लिए मृतक के परिजन श्मशान में भी नहीं पहुंचे शव के अंतिम संस्कार के लिए कुछ देर प्रतीक्षा करने के बाद भी कोई नहीं पहुंचा उसके बाद प्रशासन ने ओर पुलिसकर्मियों ने मिलकर दाह संस्कार किया।

लकड़ियां भी पुलिसकर्मियों ने रखी

कस्बे में मौत होने के बाद श्मशान घाट में कोई कार्मिक कार्यरत नही होने से पुलिस को अपनी जिम्मेदारी का साथ पूरा काम करना पड़ गया। कार्मिक नही होने से शव के दाह संस्कार के लिए लगाई गयी लकड़ियों भी पुलिस को लगानी पड़ी। मृतक के परिवार से एक भी सदस्य नही आया।

परिवार के सदस्य नही आने के कारण शव करीब 20 से 25 मिनट तक श्मशान में ही रखा रहा जिसके बाद पुलिस ने ही पूरा दाह संस्कार किया। मृतक के शव का दाह संस्कार करने में पूरा प्रोटोकॉल अपनाया गया। पीपीई किट पहन कर शव को जलाया गया और फिर मृतक के घर को सेनिटाइजर करवाया गया।
-बृजेश मीना, तहसीलदार

खबरें और भी हैं...