गणेश महोत्सव का समापन:बाजै छ नौबत बाजा, म्हारा गजानन का राजा

सवाई माधोपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भजन संध्या में रिद्धिसिद्धि के दाता का गुणगान, गायकों के साथ श्रोता भी झूमे

गणेश चतुर्थी से शुरू हुए गणेश महोत्सव का मंगलवार को अनंत चतुर्दशी पर समापन हुआ। कोरोना को देखते हुए इस बार गणेश महोत्सव में किसी भी बड़े कार्यक्रम का आयोजन नहीं हुआ और ना ही अंतिम दिन गणेशजी की विसर्जन शोभायात्रा निकाली गई। केवल कुछ गिने-चुने लोगों ने ही गणेशजी की प्रतिमा को रामेश्वर सहित अन्य पानी वाली जगहों पर लेकर जाकर विसर्जित किया। वहीं दूसरी ओर शहर में कई जगहों पर दैनिक भास्कर की पहल पर लोगों ने अपने घरों में मिट्टी के गणेशजी स्थापित किए ।परमहंस गोशाला में मां राधे देवी के सानिध्य में योग सेवा दल समिति के तत्वावधान में चल रहे गणेश महोत्सव का मंगलवार को गणेशजी की प्रतिमा के विसर्जन के साथ समापन हो गया। इससे पूर्व सोमवार शाम को भजन गायन का कार्यक्रम हुअा, जिसमें गणेशजी के भजनों पर श्रद्धालु झूम उठे। कोषाध्यक्ष राजेश सैनी ने बताया कि सोमवार रात्रि 9 बजे गणेशजी का का फूलों से श्रृंगार किया गया तथा 201 मोदकों से गणेशजी का दरबार सजाया गया। इसके बाद रणतभंवर गणेश परिवार के अध्यक्ष अशोक खूंटेटा के नेतृत्व में गणेशजी का भजनों के माध्यम से गुणगान किया गया। गणेश वंदना के साथ भजनों का सिलसिला शुरू हुआ। इसके बाद गुनगुन अग्रवाल ने रणतभंवर से आओ विनायक…, रिया शर्मा ने बता मेरे यार सुदामा रे…, आरती शर्मा ने साचो रणतभंवर दरबार…, सोनू गोयल ने डूबती मेरी नैया पार लगा सरकार…, हरिओम सेन ने बाज छ नोबत बाजा म्हारा गजानन का राजा… सहित अन्य गायक कलाकारों ने एक से बढ़कर एक भजन प्रस्तुत कर गणेशजी को रिझाया। साथ ही भजनों की धुन पर श्रद्धालु भक्तिरस में झूमने लगे। आखिरी में गणेशजी की आरती कर भजनों को विराम दिया गया और श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया। मंगलवार को सुबह गणेशजी की पूजा कर आरती की गई और इसके बाद गणेशजी की प्रतिमा को विसर्जन के लिए खंडार स्थित रामेश्वर घाट पर लेकर आए। यहां पर गणपति बप्पा मोरया, अगले बरस तू जल्दी आ… के जयकारों के साथ रामेश्वर घाट पर मुख्य अतिथि हनुमान सिंह नरूका के द्वारा पूजा कर गणेशजी की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। इस वर्ष कोरोना के कारण गणेशजी की विसर्जन शोभायात्रा जैसे विभिन्न बड़े कार्यक्रमों को स्थगित कर साधारण रूप से ही प्रतिमा का विसर्जन किया गया।पूर्व उप सभापति श्याम सिंहल के परिवारजनों द्वारा गणेश चतुर्थी पर स्थापित इकोफ्रेंडली गणेश का गमले में विसर्जन किया गया। पंडित मंगलेश ने मंत्रोच्चार से कार्यक्रम सम्पन्न कराया। इसके बाद गमले में एक तुलसी पौधा लगाया गया।

खबरें और भी हैं...