पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रधान निर्वाचित:सवाई व खंडार में भाजपा को मिली प्रधान की सीट

सवाई माधोपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सवाई माधोपुर जिले की सात पंचायत समितियों में प्रधान निर्वाचित, बामनवास में तीसरी पीढ़ी को मिली कमान

सवाई माधोपुर : भाजपा की नारंगी को 7 मतों से दी

पंचायत समिति सवाईमाधोपुर की प्रधान की सीट पर कांग्रेस की निरमा मीना विजयी रही। वार्ड संख्या 8 से कांग्रेस के टिकट पर जीत कर पंचायत समिति पहुंची निरमा मीना को कांग्रेस की ओर से प्रधान पद के लिए उम्मीदवार बनाया गया। वहीं भाजपा ने वार्ड 9 से विजयी रही नारंगी पर प्रधानी का दाव खेला। सवाईमाधोपुर प्रधानी के लिए मतदान समाप्ति समय तक कुल 21 सदस्यों में से 17 सदस्यों ने अपने मत का प्रयोग किया। वहीं भाजपा के चार सदस्यों ने मतदान से दूरियां बनाए रखी।मतदान समाप्ति तक 17 सवाईमाधोपुर पंचायत समिति सदस्यों ने प्रधानी के लिए मतदान किया।

इनमें से कांग्रेस की निरमा मीना को 12 व भाजपा की नारंगी मीना को 5 मत पड़े। जबकि भाजपा के चार सदस्य मतदान करने नहीं पहुंचे।मतदान समाप्ति समय के बाद निर्वाचन अधिकारी ने मतों की गणना के बाद परिणाम घोषित किया। इसमें कांग्रेस की निरमा मीना ने 12 मत प्राप्त किए। जबकि भाजपा की नारंगी मीना को मात्र पांच वोट मिले। ऐसे में कांग्रेस की निरमा मीना ने भाजपा उम्मीदवार को सात मतों से शिकस्त देकर सवाईमाधोपुर प्रधान की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया।

कांग्रेस के बाड़े में बंद सवाईमाधोपुर पंचायत समिति में जीत कर पहुंचे कांग्रेस के सदस्यों को प्रधान के लिए मतदान करने विधायक दानिश अबरार अपने साथ लेकर मतदान स्थल पहुंचे, जिन्हें एटीएम के पास ही बेरीकेड्स के पास लगे पुलिस जाप्ते ने रोक लिया। इसके बाद जिलाधिकारियों से विधायक द्वारा बात करने पर मतदाताओं को पंचायत समिति परिसर मतदान स्थल तक वाहन से पहुंचने की अनुमति दी गई। जब जाकर कांग्रेस के पंचायत समिति सदस्य मतदान स्थल पहुंचे। वहीं विधायक को आगे नहीं जाने देने के कारण वो वापस लौट गए।

मलारना डूंगर पंचायत समिति : देवपाल 5 मत से प्रधान चुने

मलारना डूंगर| नवगठित मलारना डूंगर पंचायत समिति के पहली बार हुए प्रधान पद के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के देवपाल मीना अपने प्रतिद्वंदी भाजपा की प्रत्याशी विशाखा मीना को 5 मतों से हराकर प्रधान बने। सुबह से ही पंचायत समिति कार्यालय में प्रशासन द्वारा चुनाव को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए थे। मलारना डूंगर पंचायत समिति के कुल 17 वार्ड के चुनाव परिणाम में कांग्रेस के 8 भाजपा के 6 तथा 3 निर्दलीयों ने विजय हासिल की थी। सुबह 10:30 बजे देवपाल मीना पंचायत समिति सदस्य फजलुद्दीन के साथ पंचायत समिति कार्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने पंचायत समिति सदस्य की पद की शपथ ली।

इसके बाद उन्होंने प्रधान पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया। 10:45 बजे विशाखा मीना भी पंचायत समिति कार्यालय पहुंची तथा अपना नामांकन दाखिल किया। प्रधान पद के मतदान के लिए भाजपा के एक पुरुष तथा 5 महिला पंचायत समिति सदस्य मतदान के लिए पहुंचे। पूर्व विधायक यास्मीन अबरार के साथ आए कांग्रेस पंचायत समिति सदस्य तीन निर्दलीय एवं कांग्रेस पार्टी के 8 पंचायत समिति सदस्य पूर्व विधायक यासमीन अबरार के साथ 4:10 पर पंचायत समिति कार्यालय मतदान के लिए पहुंचे तथा मतदान किया।

खंडार : भाजपा के नरेंद्र चौधरी दो मत से विजयी

खंडार| पंचायत समिति खंडार में सोमवार को प्रधान पद के लिए शांतिपूर्ण मतदान हुआ। इसमें खंडार विधायक अशोक बैरवा के पुत्र संजय बैरवा को हार का सामना करना पड़ा। वहीं कांग्रेस से बागी होकर भाजपा का दामन थामने वाले नरेंद्र चौधरी प्रधान बने। दूसरी ओर मतदान के दौरान पुलिस एवं प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजामात किए गए। निर्वाचन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रधान चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी व विधायक पुत्र संजय बैरवा को कुल 11 मत मिले थे। वहीं भाजपा के नरेंद्र चौधरी को कुल 13 मत मिले। वहीं 1 मत निरस्त हो गया। ऐसे में निर्वाचन विभाग द्वारा भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र चौधरी को 2 मतों से विजयी घोषित किया गया। इस बार पंचायत समिति खंडार में पंचायत समिति सदस्यों की 25 सीटों में से 14 सीटें कांग्रेस को मिली थी। वहीं भाजपा मात्र 8 सीटों पर सिमट गई थी। वहीं 2 सीटें आरएलपी व 1 सीट निर्दलीय ने जीती थी। ऐसे में 25 में से 14 सीटें जीतकर कांग्रेस ने पूर्ण बहुमत हासिल किया था, लेकिन कांग्रेस में प्रधान के टिकिट वितरण में असंतोष पैदा हो गया और विधायक ने अपने पुत्र संजय को टिकिट दे दिया। ऐसे में नरेंद्र चौधरी कांग्रेस से बागी होकर भाजपा खेमे में जा मिले और भाजपा ने मौके का फायदा उठाते हुए उन्हें प्रधान पद का उम्मीदवार घोषित कर कांग्रेस के मंसूबों पर पूरी तरह से पानी फेर दिया।

बौंली पंचायत समिति: कृष्ण पोसवाल ने पूजा गुर्जर को हराया

बौंली| पंचायत राज चुनाव के तहत सोमवार को बौंली पंचायत समिति के प्रधान के चुनाव सम्पन्न हुए। प्रधान के लिए चुनाव मैदान में भाजपा से कृष्ण पोषवाल व कांग्रेस से पूजा गुर्जर थे। दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक मतदान हुआ। मतगणना के बाद रिटर्निंग अधिकारी ने परिणाम की घोषणा की, जिसमे 21 में से भाजपा के कृष्ण पोषवाल को 12 मत मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी पूजा गुर्जर को 9 मत मिले। गौरतलब है कि बौंली समिति में 21 वार्ड है, जिनमें से 11 पर भाजपा, 9 पर कांग्रेस व एक पर निर्दलीय ने जीत हासिल की थी। चुनाव के दौरान पुलिस व्यवस्था चाक चौबंद रही।

परिणाम की घोषणा के बाद विजेता प्रत्याशी को पुलिस द्वारा उनके आवास पर छोड़ा गया। वहीं पंचायत समिति क्षेत्र के सभी विजेता सदस्यों को रिटर्निंग अधिकारी बद्रीनारायण मीना द्वारा मतदान के दौरान आने पर पहले उन्हें शपथ दिलवाई गई व विजेता होने का प्रमाण पत्र दिए गए। चुनाव के दौरान भाजपा के पंचायत राज चुनाव के जिला प्रभारी मदन दिलावर व अभिमन्यु सिंह राजवी बौंली पहुंचे तथा विजेता प्रत्याशी कृष्ण पोषवाल को बधाई दी। इस अवसर पर बस स्टैंड पर नव निर्वाचित प्रधान समर्थकों की भीड़ जमा थी।

खबरें और भी हैं...