दहेज प्रताड़ना का केस:पति सहित ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का केस

सवाई माधोपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महिला थाना पुलिस ने एक पीड़िता की रिपोर्ट पर दुष्कर्म, मारपीट और दहेज का मामला दर्ज किया है। महिला थाने में दर्ज रिपोर्ट में पीड़िता ने बताया कि उसके माता पिता का देहान्त हो चुका है। परिवार में कोई नहीं है। दिसम्बर 2017 मे उसकी मुलाकात मानसिंह पुत्र बाबूलाल मीना निवासी लोरवाडा थाना सुरवाल से हुई। उसने प्रेम का इजहार किया। आरोपी ने पीड़िता से शादी करने का वादा कर पीड़िता से प्रेम सम्बन्ध स्थापित किए।

शादी का झांसा देकर वह पीड़िता के साथ लगातार दुष्कर्म करता रहा। आरोपी ने इस दौरान जगतपुरा स्थित अपने चाचा के मकान होटल महिमा पैलेस जगतपुरा, होटल एक्वीन्स सांगानेर जयपुर आदि जगह ले जाकर पीड़िता से शारिरिक सम्बन्ध बनाए। आरोपी लगातार पीड़िता को शादी का झांसा देता रहा। मार्च 2020 मे पिता की मृत्यु होने पर पीड़िता ने आरोपी मानसिह से शादी करने को कहा तो आनाकानी करते हुए शादी करने से मना कर दिया।

आरोपी के शादी की मना करने के बाद मजबूर होकर पीड़िता ने आरोपी मानसिह के खिलाफ सूरवाल थाने में मामला दर्ज करवाया। मुकदमा दर्ज होने पर आरोपी, उसके पिता बाबूलाल मीना, भाई धर्म सिंह, विजय और उनका एक रिश्तेदार चिरंजीलाल मीना उसके पास आए और राजीनामा का दबाव बनाने लगे। आरोपी व उसके परिवार के लोग तथा रिश्तेदार पीड़िता से कहने लगे कि उन्हें गलती का एहसास हो चुका है। वह आरोपी के साथ उसकी शादी करवाने को तैयार है। आरोपी मानसिंह भी पीड़िता से शादी करने के लिए निवेदन करने लगा। साथ ही भरोसा दिया कि तुम्हे वैवाहिक जीवन में किसी प्रकार की समस्या नहीं आएगी।

आरोपी ने पीड़िता के साथ 20 दिसम्बर 2020 को आर्य समाज मन्दिर जयपुर में शादी कर ली, लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही आरोपी फोन पर गालियां देकर उझे धमकाने लगा और पीड़िता से दहेज की मांग करने लगा। आरोपी कि मांग थी कि उसे सरकारी नौकरी मिल गई है तो अपनी हैसियत के अनुसार दहेज दे। आरोपी के पिता ने भी पीड़िता से दहेज की मांग करते हुए पूरे सोने चांदी के जेवर की मांग की। पीड़िता ने शादी के बाद आरोपी को कई बार मिलने भी बुलाया, लेकिन वो एक बार भी उससे मिलने नहीं आया।

खबरें और भी हैं...