पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कंट्रोल रूम स्थापित:खंडार क्षेत्र में वन्यजीवों के मूवमेंट को देखते हुए कंट्रोल रूम स्थापित

सवाई माधोपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खंडार | रणथम्भौर अभ्यारण्य की गिलाईसागर चौकी जहां यह कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। - Dainik Bhaskar
खंडार | रणथम्भौर अभ्यारण्य की गिलाईसागर चौकी जहां यह कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है।

खंडार रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य के सीमावर्ती वन क्षेत्र में आए दिन वन्य जीवों के मूवमेंट को देखते हुए बाघ परियोजना खंडार के क्षेत्रीय वनाधिकारी विष्णु गुप्ता ने रविवार को खंडार मुख्यालय पर कंट्रोल रूम की स्थापना की है। यह कंट्रोल रूप चौबीसों घंटे कार्य करेगा तथा यहां प्राप्त होने वाली हर सूचना पर तत्काल कार्रवाई होगी। इससे क्षेत्र की घनी आबादी, गांवों व खेतों में बाघ, पैंथर, भालू, बघेरा, जरख सहित अन्य वन्य जीव आने पर ग्रामीणों एवं वन्य जीव दोनों को तत्काल पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध हो सकेगी।बाघ परियोजना खंडार के क्षेत्रीय वनाधिकारी विष्णु गुप्ता ने बताया कि रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य की रेंज खंडार के क्षेत्र कस्बा खंडार एवं गांवों में वन्य जीवों के आने की आए दिन सूचना आती रहती है, जिसके लिए तुरंत कार्रवाई की जा सके।

इसके लिए कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है, जिसका मुख्यालय रेंज खंडार होगा। यह कंट्रोल रूम क्षेत्र में चौबीसों घंटे निरंतर अपनी सेवाएं देगा। उन्होंने बताया कि कंट्रोल रूम पर दिन के समय वृक्षपालक ओमप्रकाश शर्मा मोबाइल नंबर 9783840055 व रात्री के समय वनपाल अमरसिंह सैनी मोबाइल नंबर 9414990677 को नियुक्त किया गया है। उक्त कर्मचारी रेंज क्षेत्र के गांव, कस्बों व खेतों पर कहीं पर भी वन्य जीव आने पर सूचना मिलने पर तुरंत सबसे पहले बाघ परियोजना खंडार के क्षेत्रीय वनाधिकारी विष्णु गुप्ता को अवगत कराएंगे तथा रणथंभौर अभयारण्य की गिलाईसागर चौकी से गस्ती दल मय गाड़ी एवं ड्राइवर की व्यवस्था करवाकर तत्काल मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करवाया जाना सुनिश्चित करेगें।

इससे आबादी इलाकों में वन्य जीव आने पर ग्रामीणों एवं वन्य जीवों दोनों को तत्काल सुरक्षा व्यवस्था मुहैया हो सकेगी।खंडार कस्बे में पिछले दो माह से लगातार विचरण के लिए पहुंच रहे भालू पर वन विभाग विशेष नजर बनाए हुए है। इसके लिए आधा दर्जन से अधिक वन कर्मचारियों द्वारा निरंतर भालू की मॉनिटरिंग की जा रही है। वहीं कस्बे में कहीं से भी सूचना मिलने पर तत्काल टीम द्वारा रातोंरात मौके पर पहुंचकर भालू को खदेडऩे की कार्रवाई भी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...