औषधि योजना:घर-घर औषधि योजना टास्क फोर्स की बैठक

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

घर-घर औषधि योजना में जिले में लक्ष्य से भी ज्यादा प्रगति दर्ज की गई है। अब कलेक्टर राजेन्द्र किशन के निर्देश पर सर्वे किया जा रहा है कि जिन परिवारों को ये पौधे दिए गए थे, वे इसके चिकित्सकीय फायदों से परिचित हैं या नहीं, वे इनका उपयोग कर रहे हैं या नहीं। जिन घरों में कुछ पौधे नष्ट हो गए हैं, वहां दूसरे पौधे देकर बेहतर सार-सम्भाल की जानकारी दी जा रही है। सोमवार को कलेक्ट्रेट में इस योजना की जिला टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर ने बताया कि पौध वितरण से ज्यादा महत्वपूर्ण पौधों के औषधीय गुणों के बारे में लोगों को जागरूक करना, उन्हें वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति से जोडना और पौधों के बेहतर रखरखाव के बारे में समझाना है। डीएफओ जयराम पांडे ने अब तक हुए सर्वे की रिपोर्ट बताते हुए कहा कि इस योजना के लागू होने के बाद आम जन में रोग प्रतिरोधक क्षमता और आयुर्वेद के प्रति रूचि बढी है। कलेक्टर ने आयुर्वेद विभाग के अधिकारियों को मेडी ट्यूरिज्म तथा औषधियों पौधों को बढावा देने के संबंध में कार्ययोजना बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...