नवजीवन योजना:हथकढ़ शराब बनाने वालों को नवजीवन योजना से लाभान्वित करें

सवाई माधोपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विभिन्न विभागों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक कलेक्टर राजेंद्र किशन की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में कलेक्टर ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक को निर्देश दिए हैं कि वह विभिन्न थानों तथा जिला आबकारी अधिकारी से सूचना संकलित करें कि जिले में कौन-कौन सा व्यक्ति या पूरा परिवार हथकड़ शराब के निर्माण और विक्रय तथा देशी और विदेशी मदिरा के अवैध कारोबार में लिप्त है। इन व्यक्तियों को राज्य सरकार द्वारा संचालित नवजीवन योजना में लाभांवित किया जाए। कलेक्टर ने बताया कि यह सूची बनाकर क्लस्टर गठित कर उन परिवारों की बैठक करें तथा क्षेत्र की आवश्यकता तथा संबंधित व्यक्ति की योग्यता के हिसाब से उन्हें रोजगार या स्वरोजगार के विकल्प उपलब्ध करवाएं।

इन लोगों को मदिरा दुकान पर सेल्समैन, बैंक या अन्य स्थानों पर सुरक्षा गार्ड का काम दिलवाया जा सकता है या भैंस पालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन से जोडा जा सकता है।इन परिवारों के बच्चों को शिक्षा से जोडने का भी प्लान तैयार करें। ऐसे परिवार किसी गांव विशेष या मोहल्ले विशेष में काफी संख्या में हैं तो वहां पेयजल, सम्पर्क सडक निर्माण के भी प्रस्ताव तैयार करें। इन परिवारों की महिलाओं को महिला स्वयं सहायता समूहों से जोडा जाए, इसके लिए महिला अधिकारिता विभाग व राजीविका से समन्वय स्थापित करें। कलेक्टर राजेन्द्र किशन ने बिजली, पानी, सार्वजनिक निर्माण विभाग सहित अन्य अधिकारियों से भी साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा कर निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...