पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्टाफ की कमी के चलते Sub PHC पर लगा ताला:पीपीपी मोड की सेवाएं खत्म होने के बाद हुए बंद, ग्रामीण दूर इलाकों में जाकर इलाज कराने को मजबूर

सवाई माधोपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सब पीएचसी कुंडली नदी। - Dainik Bhaskar
सब पीएचसी कुंडली नदी।

मलारना डूंगर उपखंड में कई सब पीएचसी पर ताला लटका हुआ है। जिससे इन सब पीएचसी के अन्तर्गत आने वाले गांवों के लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सब पीएचसी पर ताला लगा होने के कारण मौसमी बीमारियों के चलते ग्रामीण दूरदराज के इलाकों में जाकर इलाज कराने को मजबूर है।

मलारना डूंगर उपखंड के कुंडली नदी, गंभीरा, भारजा नदी ग्राम पंचायत मुख्यालय सहित देवली गांव के सब पीएचसी पर पीपीपी मोड पर रहते हुए ग्रामीणों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होती रही। पिछले करीब 2 महीने पहले इन चारों सब पीएचसी सहित भाडोती पीएचसी को पीपीपी मोड की सेवा से सरकार ने मुक्त कर दिया।

जिसके बाद यहां एक बार फिर सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं शुरू की गई है, लेकिन सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं स्टाफ के अभाव में सब पीएचसी पर दम तोड़ रही है। इन सब पीएचसी पर पीपीपी मोड का कॉन्ट्रैक्ट समाप्त होने के बाद से ही ताला लटका हुआ है। कुंडली नदी निवासी मगनलाल मीणा ने बताया कि निजी हाथों में संचालित सब पीएचसी पर लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो रही थी। जब से इन उप स्वास्थ्य केंद्रों से पीपीपी मोड का स्टाफ हटाया गया, तब से इन पर ताला लगा हुआ है। उप स्वास्थ्य केंद्र परिषद अब आवारा मवेशी और असामाजिक तत्वों का अड्डा बने हुए हैं।

स्टाफ की कमी के चलते सब पीएचसी पर ताला लगा हुआ है। इस बारे में उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया है। जल्द ही स्टाफ लगाकर सब पीएचसी पर स्वास्थ्य सेवाएं चालू किया जाएगा।

डॉ. तेजराम मीणा, सीएमएचओ ​​​​​​, सवाई माधोपुर

खबरें और भी हैं...