नई मुसीबत / जिले में टिड्डियों की दस्तक, रणथंभौर होते हुए खंडार क्षेत्र में डाला पड़ाव

सवाई माधोपुर| बजरिया एवं सीमेंट फैक्ट्री क्षेत्र से निकला टिड्डी का दल कई जगह आसमान पीला हो गया सवाई माधोपुर| बजरिया एवं सीमेंट फैक्ट्री क्षेत्र से निकला टिड्डी का दल कई जगह आसमान पीला हो गया
X
सवाई माधोपुर| बजरिया एवं सीमेंट फैक्ट्री क्षेत्र से निकला टिड्डी का दल कई जगह आसमान पीला हो गयासवाई माधोपुर| बजरिया एवं सीमेंट फैक्ट्री क्षेत्र से निकला टिड्डी का दल कई जगह आसमान पीला हो गया

  • टाेंक के सुरेली से जिले में प्रवेश, कई इलाकों में भारी नुकसान

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

सवाई माधोपुर/ खंडार|. जिले में शुक्रवार को अचानक टोंक क्षेत्र से टिड्डी ने प्रवेश किया। चौथ का बरवाड़ा के सोलपुर, ईसरदा, शिवाड़, सारसोप, नयागांव, से चौथ का बरवाड़ा होते हुए भेडोला, आदलवाडा, जोला, रामड़ी, बजरिया से होती हुई रणथंभौर की ओर यह दल निकल गया। वहां से बाद में दल ने खंडार क्षेत्र में पड़ाव डाल  दिया।  यह टिड्डी दल सवाईमाधोपुर से आकाश मार्ग से रणथंभौर से होता हुआ क्षेत्र में दाखिल हुआ है। टिड्डी दल ग्राम पंचायत गंडावर, अनियाला व गोठड़ा के दर्जनों गांवों में प्रवेश कर गया है। 
कृषि विभाग के अधिकारी टिड्डी दल की लोकेशन के बारे में जानकारी जुटाने में जुट गए हैं। ग्रामीणों द्वारा संभावना जताई जा रही है कि यह टिडडी दल खंडार क्षेत्र में बड़ी तबाही मचा सकता है। क्योंकि रात के समय यह टिड्डी दल क्षेत्र में पड़ाव डाल सकता है और पड़ाव स्थल पर सब कुछ चट कर सकता है। ऐसे में क्षेत्र के किसानों में दहशत का माहौल है। हालांकि किसान अपने स्तर पर खेतों में घंटी, थाली, पीपे आदि बजाकर इलाके से टिड्डियों को खदेड़ने का पूरा प्रयास कर रहें हैं।
टिड्डियों का दल जा सकता है करौली में, सब कुछ हवा के रुख पर निर्भर
कृषि विभाग के अधिकारियों के अनुसार टिड्डीयो का यह दल बहुत ज्यादा बड़ा नहीं होने के कारण तेजी से आगे निकल गया। कृषि विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोपहर की तेज धूप वह हवा के कारण यह दल ज्यादा देर कहीं नहीं टिका। जिन अमरुद के बगीचों के ऊपर से निकला वहां पर भी ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। कुछ बगीचों में अमरूद के कुछ पत्ते खाने की जानकारी मिली है, लेकिन यह कोई चिंता वाली बात नहीं है। 
    यह पता कुछ ही दिन बाद वैसे भी गिर जाएगा और नया पत्ता और अमरूद की फसल बरसात के साथ ही आएगी। जहां तक रणथंभौर का सवाल है आशंका है कि रात को यह दल रणथंभौर के जंगलों में कहीं पड़ाव डाल सकता है। इस समय रणथंभौर में अधिकांश पेड़ सूखे एवं पत्ता विहीन होने के कारण वहां पर भी ज्यादा नुकसान की संभावना नहीं है अंदेशा है कि यह दल कल तक करौली की तरफ जा सकता है, लेकिन अगर हवा का रुख बदलता है तो इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि यह दल वापस पलट जाए देखना यह है कि अब यह दल कल सुबह किस तरफ का रुख करता है।

फिलहाल पूरा सरकारी अमला इस पर निगरानी रखे हुए हैं टिड्डियों के जिले में प्रवेश करने तथा इनके द्वारा अधिक नुकसान नहीं हो, इसे लेकर कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने कृषि विभाग के अधिकारियों को जागरूकता बनाने के निर्देश दिए।

भगवतगढ़| जमीन पर बैठी टिड्डियां।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना