पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस कस्टडी में मौत, ADM और ASP पर भड़के विधायक:बोले- हमारी सरकार की इस मामले के कारण  पूरे राजस्थान में बदनामी हुई, जिसके जिम्मेदार आप

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
विधायक अशोक बैरवा रविवार दोपहर चौथ का बरवाड़ा पुलिस थाने पहुंचे।

जिले के चौथ का बरवाड़ा पुलिस थाने में शनिवार को एकड़ा गांव के एक अधेड़ की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। मामले में क्षेत्रीय विधायक अशोक बैरवा रविवार दोपहर चौथ का बरवाड़ा पुलिस थाने पहुंचे। उन्होंने थाने में मौजूद एडीएम और एडिशनल एसपी को पुलिस हिरासत में हुई अधेड़ की मौत मामले में जमकर लताड़ लगाई।

विधायक ने अधेड़ की मौत पर प्रशासन की ओर से मुआवजा देने की मांग की तो इस पर एडीएम व एडीशनल एसपी ने नियमों का हवाला देकर कहा की जो भी मुआवजा होगा नियम अनुसार दिया जाएगा। इसके लिए नियमों के बारें में मालूम किया जा रहा हैं। इसके बाद क्षेत्रीय विधायक दोनों के ऊपर बरस पड़े। उन्होंने कहा कि आपको अभी नियम ही नहीं पता हैं। हमारी सरकार की इस मामले के कारण पूरे राजस्थान में बदनामी हुई है, जिसके लिए जिम्मेदार आप सभी लोग हैं। अब वह मामलें में उच्च अधिकारियों से ही बात करेगे। ये कहकर विधायक बैरवा नाराज होकर थाने से बाहर आ गए।

मामले में न्यायिक जांच कमेटी का हुआ गठन

मामले में सरकार की ओर से एक उच्चस्तरीय न्यायिक कमेटी का गठन किया गया है। जांच कमेटी की जिम्मेदारी बामनवास सीजेएम मनमोहन चंदेल को दी गई है| फिलहाल मृतक का जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में वीडियोग्राफी के साथ पोस्टमार्टम सीजेएम की मौजूदगी में किया जा रहा है।

ये है मामला
चौथ का बरवाड़ा उपखंड मुख्यालय से 7 किलोमीटर दूर एकड़ा गांव में पारिवारिक मारपीट के बाद मृतक भजन लाल मीणा ने थाने में गुरुवार को रिपोर्ट दी थी। जबकि मामले में शुक्रवार दोपहर तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। इसी दौरान आरोप है कि दोपहर को पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर उसके साथ मारपीट कर दी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को सवाई माधोपुर तथा इसके बाद जयपुर रैफर किया गया। जयपुर ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

पुलिस कस्टडी में अधेड़ की मौत:पूर्व संसदीय सचिव ने प्रशासन को दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम, हत्या का मुकदमा दर्ज, आर्थिक सहायता के साथ सरकारी नौकरी की रखी मांग

खबरें और भी हैं...